थपथपाया, दुलारा और पहनाया सेहरा

थपथपाया, दुलारा और पहनाया सेहरा

गाजीपुर शादी के उत्साह के बीच पिता के दायित्व को निभाने अपने गोद लिए पुत्र बृजेंद्र की शादी में शनिवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह गाजीपुर पहुंचे।

JagranSat, 27 Feb 2021 09:23 PM (IST)

सर्वेश कुमार मिश्र, गाजीपुर : शादी के उत्साह के बीच पिता के दायित्व को निभाने अपने गोद लिए पुत्र डा. बृजेंद्र कुमार के मदारीपुर स्थित आवास पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह शनिवार को पहुंचे तो मानों दुनिया की सारी खुशियां दूल्हे ही नहीं उनके घरवालों को भी मिल गई। मन पुलकित हो उठा, आंखें खुशी से भर आईं तो राजनाथ सिंह भी भाव विह्वल हो उठे। रक्षामंत्री ने डा. बृजेंद्र का पीठ थपथपाया, दुलारा और फिर सेहरा पहनाया। बृजेंद्र की मां सुशीला देवी को उन्होंने शगुन दिया। बृजेंद्र और उसकी होने वाली पत्नी प्रीतिका को आशीर्वाद दिया।

रक्षामंत्री लगभग 2:40 बजे कार से बृजेंद्र के घर पहुंचे। उधर डा. बृजेंद्र की मां सुशीला आरती की थाल लेकर द्वार पर खड़ी थीं। रक्षामंत्री कार से उतरते ही उन्हें साथ लेकर प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत बने आवास में पहुंचे। वहां सोफे पर बैठने पर सुशीला देवी ने उनकी आरती की। सुशीला व उनके भाई रामधनी राम ने उनका पैर छूकर आशीर्वाद लिया। रक्षामंत्री ने पैर छूने से रोका तो खुशी की लहर में डूब रही सुशीला देवी की आंखें नम हो गईं।

उधर रक्षामंत्री ने गोद लिए दूसरे बेटे चौबेपुर के शिवप्रसाद को बुलाकर उसका हाल जाना। आश्रम पद्धति विद्यालय वाराणसी के वर्तमान प्रधानाचार्य राममिलन सिंह व सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य राममिलन सिंह से उन्होंने विद्यालय के बारे में जानकारी ली। कहा, आप ही की देन है कि आज बृजेंद्र डाक्टर बन गया और शिवप्रसाद सिविल सर्विसेज की तैयारी कर रहा है। चंद मिनट पर डा बृजेंद्र कुमार, उनकी होने वाली पत्नी प्रीतिका पहुंची और रक्षामंत्री का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। उन्होंने डा. बृजेंद्र का पीठ थपथपाया। गालों को सहलाकर दुलारा एवं उसे सेहरा पहनाया। रक्षामंत्री ने प्रीतिका से उसके शैक्षिक योग्यता के बारे में जानकारी ली और तारीफ की। उनके साथ आए कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री डा. महेंद्रनाथ पांडेय ने भी डा बृजेंद्र व प्रीतिका को बुके प्रदान कर आशीर्वाद दिया।

---

जब मैं उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री था तो एक बच्चे की पढ़ाई लिखाई की जिम्मेदारी मैंने उठायी थी। वह बच्चा पढ़ लिख कर डाक्टर बना। आज उसी डा. बृजेंद्र के विवाह समारोह में उसके घर जाकर शामिल हुआ और उसे अपनी शुभकामनाएं दीं। मेरे लिए निश्चित रूप से यह एक बड़े संतोष और आनंद का क्षण है।

- राजनाथ सिंह, रक्षामंत्री।

गरीब बच्चों को गोद लेकर कामयाब इंसान बनाने से आनंद की अनुभूति

जागरण संवाददाता, गाजीपुर : गोद लिए बेटे डा. बृजेंद्र की शादी समारोह में शनिवार को सैदपुर नगर के मदारीपुर मोहल्ला में आए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गरीब बच्चों को गोद लेकर कामयाब इंसान बनाने से आनंद की अनुभूति होती है। वह पत्रकारों के सवालों का जवाब दे रहे थे। किसानों के आंदोलन से जुड़े सवाल पर बोले कि सरकार इस मामले को देख रही है। उनका हित सर्वोपरि है।

कहा कि अत्यंत गरीब बच्चों को गोद लेकर उन्हें पढ़ा लिखाकर कामयाब इंसान बनाने के बाद आनंद की अनुभूति होती है। हर सक्षम व्यक्ति को यह कार्य करना चाहिए। जब मैं मुख्यमंत्री था, तो अपने चीफ सेक्रेटरी से कहकर आश्रम पद्धति के दो बच्चों को गोद लिया। डा. बृजेंद्र उसमें से एक बच्चा है, जो आज सरकारी अस्पताल में डाक्टर है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि हमारी सेना ने जिस धैर्य, शौर्य व संयम का परिचय दिया है उसे जानकर हर भारतवासी को गर्व होगा। चीन द्वारा अपनी सेना को पीछे करने के बावजूद विपक्ष आरोप लगा रहा है। रक्षामंत्री ने इस सवाल का जवाब देते हुए कहा कि यह विडंबना है। हमारे देश की सेना के शौर्य और पराक्रम पर किसी को संदेह नहीं करना चाहिए। रक्षामंत्री बृजेंद्र के घर करीब 30 मिनट रहे। उनके साथ केंद्रीय मंत्री डा. महेंद्रनाथ पांडेय भी रहे। दोनों लोग 3 बजकर 10 मिनट पर बाबतपुर के लिए रवाना हो गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.