नामांकन पत्र फाड़ने में विधायक के भतीजे पर एफआइआर

नामांकन पत्र फाड़ने में विधायक के भतीजे पर एफआइआर

जागरण संवाददाता भांवरकोल (गाजीपुर) ब्लाक परिसर में रविवार को पूर्व प्रमुख शारदानंद राय

JagranMon, 19 Apr 2021 06:59 PM (IST)

जागरण संवाददाता, भांवरकोल (गाजीपुर) : ब्लाक परिसर में रविवार को पूर्व प्रमुख शारदानंद राय उर्फ लुटुर एवं रतन राय का नामांकन पत्र फाड़ने का मामला मुहम्मदाबाद के भाजपा विधायक अलका राय के भतीजे आनंद राय के गले की फांस बन गया है। मुन्ना सहित 25 अज्ञात के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। इसे लेकर साक्ष्य जुटाने के साथ लोगों से पूछताछ भी की जा रही है। इससे क्षेत्र में पंचायत चुनाव की राजनीति गरमा गई है।

पूर्व प्रमुख शारदानंद राय और रतन राय रविवार को कनुवान प्रथम व द्वितीय से रविवार को नामांकन पत्र दाखिल करने पहुंचे थे। आरोप है कि इसी दौरान आनंद राय अपने समर्थकों से उन्हें नामांकन दाखिल करने से मना किए। इसके बाद उनके हाथ पर्चा छीन कर फाड़ दिया। इससे दोनों पक्षों में हो हल्ला और गाली-गलौज होने लगा। मामला काफी अधिक बढ़ गया था, हालांकि एडीएम व एएसपीआरए ने दोनों लोगों का नामांकन पत्र दाखिल कराकर मामला शांत कराया था। इधर, ब्लाक परिसर में हुई इस घटना से कनुआन गांव अछूता नहीं है। उपरोक्त दोनों ही पक्ष कनुआन के ही क्षेत्र पंचायत के वार्डों से अपना नामांकन किया है। कनुआन का क्षेत्र पंचायत वार्ड संख्या 54 महिला के लिए आरक्षित है, जबकि उसी गांव का क्षेत्र पंचायत का वार्ड संख्या 55 अनारक्षित है। वार्ड संख्या 54 से गोड़उर निवासी आनंद राय की पत्नी श्रद्धा राय तथा मसोन निवासी रतन राय पत्नी पारस नाथ राय ने अपना अपना नामांकन दाखिल किया है। उधर, वार्ड संख्या 55 से शारदानंद राय सहित कुल आठ लोगों ने अपना नामांकन दाखिल किया है। लोगों में चर्चा है कि आगे ब्लाक प्रमुख की दावेदारी की वजह से ही यह घमासान है। चूंकि दोनों ही महिला प्रत्याशी कनुआन के बाहर की निवासी हैं, इसलिए गांव के लोग बड़ी संजीदगी से इस चुनाव पर नजर रख रहे हैं, ताकि यहां का आपसी प्रेम बना रहे।

--- धरी की धरी रह गई निर्विरोध की तैयारी

: आनंद राय अपनी पत्नी श्रद्धा को भांवरकोल ब्लाक प्रमुख की गद्दी पर बैठाने की तैयारी में लगे हुए हैं। नामांकन के पहले दिन उन्होंने नामांकन भी करा दिया। अंदर खाने में यह भी चर्चा है कि अपनी पत्नी को निर्विरोध बीडीसी बनाने के लिए उन्होंने न सिर्फ संबंधितों को अपने अंदाज में समझाया था, बल्कि शाम होते ही मिठाई भी बांट दी गई थी। इसके बाद जब रतन राय रविवार को नामांकन दाखिल करने पहुंच गईं तो उनकी निर्विरोध की सभी तैयारियां धरी की धरी रह गईं। अब इससे सहज ही अंदाजा लगा सकते हैं कि कनुवान प्रथम का बीडीसी चुनाव कितना रोचक होने वाला है।

--- सांसद अफजाल अंसारी खुलकर आ गए सामने

: पूर्व प्रमुख लुटुर राय और रतन राय का नामांकन पत्र फाड़ने का विवाद इतना बढ़ गया कि जिले के सांसद अफजाल अंसारी भी खुलकर सामने आ गए। उन्होंने न सिर्फ इसका विरोध किया, बल्कि उचित कार्रवाई के लिए मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत भी कर डाली। कहा कि यह तो खुलेआम कानून का धज्जी उड़ाई जा रही है।

--- - नामांकन पत्र फाड़ने के विवाद में मिली तहरीर के आधार पर आनंद राय और करीब 25 अज्ञात के खिलाफ एफआइआर दर्ज कर मामले की जांच की जा रही है। छानबीन में जो साक्ष्य मिलेंगे उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।

-डा. ओमप्रकाश सिंह, पुलिस अधीक्षक। ---

- किसी को कानून के साथ खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। जो जितनी बड़ी गलती करेगा उतनी बड़ी सजा पाएगा। चुनावी व्यवस्था में खलल रंचमात्र भी मंजूर नहीं है।

- मंगला प्रसाद सिंह, जिलाधिकारी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.