घर लौटा आंख का तारा तो छलक उठे खुशी के आंसू

नोट अलीगढ़ के लिए भी जरूरी फोटो 27 एसबीडी 18 - 12 फरवरी 2021 को अर्थला स्थित हज हाउस क

JagranTue, 27 Jul 2021 09:54 PM (IST)
घर लौटा आंख का तारा तो छलक उठे खुशी के आंसू

नोट: अलीगढ़ के लिए भी जरूरी

फोटो 27 एसबीडी 18

- 12 फरवरी 2021 को अर्थला स्थित हज हाउस के पास चोरी हो गया था बच्चा

- बच्चे की तलाश में माता-पिता के नहीं रुके थे कदम, दुआ कुबूल हो गई

- अलीगढ़ पुलिस ने बच्चा बरामद कर परिजनों को सौंपा, लेकर लौटे साहिबाबाद

धनंजय वर्मा, साहिबाबाद :

अर्थला के हज हाउस से 12 फरवरी 2021 को चोरी हुआ बच्चा अलीगढ़ में बरामद हुआ। यह खबर सुनते ही बच्चे के माता-पिता व रिश्तेदारों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। मंगलवार को आंख का तारा घर पहुंचा तो मां की आंखो से खुशी के आंसू छलक उठे। पीड़ित माता-पिता ने कहा कि बच्चे की तलाश में अभी तक उनके कदम नहीं रुके थे। हर रोज बच्चे के मिलने की दुआ करते थे। उनकी दुआ कुबूल हो गई।

दिल्ली के दिलशाद गार्डन स्थित कलंदर कालोनी में अनवर खान परिवार के साथ रहते हैं। उनकी पत्नी अमीरन फरवरी में गाजियाबाद के अर्थला स्थित हज हाउस के पास अपने पिता के घर आई थीं। इस दौरान 12 फरवरी को उनका करीब आठ माह का बेटा आजम चोरी हो गया। अमीरन ने साहिबाबाद थाने में बेटे के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराई।

----

दो बहनों का अकेला भाई है :

अनवर ने बताया कि उनकी चार व तीन साल की दो बेटियां हैं। आजम सबसे छोटा है। आजम का अपहरण होने के बाद दोनों बहनें बस यही पूछती रहीं और रोती थीं कि भइया कहां है। अमीरन के लिए आजम आंख का तारा था। वह उसे कलेजे से लगाकर रखती थीं। अचानक किसी ने जिगर के टुकड़े को छीन लिया। अमीरन सदमे में चली गईं। पूरा परिवार परेशान रहा।

-----

हर जगह की तलाश व मांगी दुआ :

अनवर का कहना है कि बेटे के अपहरण के बाद उनपर समस्याओं का पहाड़ टूट पड़ा। बेटे के लिए एक तरफ उनकी पत्नी का बुरा हाल हो गया था। दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा के अनाथ आश्रम, थाने, रिश्तेदार के यहां से लेकर विभिन्न कालोनियों में बेटे की तलाश में दिन रात एक कर दिया। बाद में अमीरन भी बेटे की तलाश में जुटी रहीं। साहिबाबाद पुलिस उनसे बस यही कहती कि वह भी उनके बेटे की तालाश कर रहे हैं। हर तरफ से मायूसी ही हाथ लगती थी। ऐसे में अनवर और अमीरन ने मस्जिद और मजारों में भी जाकर बेटे के मिलने की दुआ मांगी।

--------

बेटे के मिलने की खबर मिलते ही दौड़ी खुशी की लहर :

अनवर का कहना है कि सोमवार दोपहर साहिबाबाद थाना पुलिस ने उन्हें फोन पर बताया कि उनका बेटा अलीगढ़ में मिल गया है। पुलिस ने फोटो भी भेजी। फोटो देखते ही अमीरन व अनवर ने बेटे को पहचान लिया। इसके बाद परिवार ही नहीं रिश्तेदारों में भी खुशी की लहर दौड़ पड़ी। अनवर गाजियाबाद में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिग यूनिट (एएचटीयू) के इंस्पेक्टर ओपी सिंह, हिडन पुल चौकी प्रभारी संदीप व अपने दो रिश्तेदारों के साथ अलीगढ़ पहुंचे। मंगलवार को उन्होंने बेटे को गोद में लिया तो मानों दुनिया की सबसे बड़ी खुशी मिल गई। मंगलवार शाम वह आजम को लेकर घर पहुंचे तो बेटे को देख अमीरन की आंखों से खुशी के आंसू छलक उठे। बेटे को कलेजे से लगा लिया और फूट फूटकर रोने लगीं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.