COVID-19: इस अस्पताल की मस्ती देख भाग जाता है कोरोना का डर

COVID-19: इस अस्पताल की मस्ती देख भाग जाता है कोरोना का डर
Publish Date:Mon, 25 May 2020 04:31 PM (IST) Author: Neel Rajput

गाजियाबाद [मदन पांचाल ]। ईएसआइ कोविड अस्पताल में भर्ती होने वाले कोरोना पॉजिटिव लोग बिना डर मस्ती में इलाज करा रहे हैं। राजेंद्र नगर कोविड अस्पताल में चपरासी, बैंक मैनेजर, डॉक्टर, नर्स, कारोबारी, जमाती, सब्जी के आढ़ती और भाजपा के नेता तक पॉजिटिव होने पर यहां भर्ती हुए और उपचार के बाद नेगेटिव होकर चले गए।

ईएसआइ कोविड अस्पताल में अब तक आए डेढ़ सौ मरीजों में स्टाफ ने तनाव नहीं देखा। केवल एक युवक जरूर ऐसा आया था जो कोरोना को लेकर बेहद डरा हुआ था लेकिन वहां भर्ती मरीजों के खिले चेहरे देखकर वह भी नॉर्मल हो गया। चिकित्सकों ने युवक की काउंसिलिंग भी की। अब तक 111 कोरोना संक्रमित ठीक हो कर घर जा चुके हैं। फिलहाल 32 संक्रमितों का इलाज चल रहा है।

डॉ. अमित कुमार सिंह कहते हैं यहां माहौल में कोई तनाव या खौफ नहीं है। इस कारण सभी पॉजिटिव पसंदीदा भोजन की मांग करते हैं। अगर मरीज तनाव में या खौफ में हो उसे भोजन के प्रति कोई रुचि नहीं होती है। यहां मरीज जैसा भोजन चाहते हैं वैसा देने की कोशिश की जाती है। कई मरीज तो दोबारा भोजन की डिमांड तक करते है। नाश्ते में यदि अंडे, ब्रेड और जैम ना मिले तो अफसरों को फोन मिलाने लगाते हैं।

ईएसआइ कोविड-1 अस्पताल राजेंद्र नगर के डॉ. अमित कुमार सिंह ने बताया कि अस्पताल में भर्ती होने पर पहले दिन तो मरीज गुमसुम रहता है लेकिन दूसरे दिन ही वहां के अन्य मरीजों को खुश देखकर वे भी मस्त हो जाते है। स्टाफ द्वारा समय पर नाश्ता, लंच और डिनर दिए जाने एवं खाना परोसते समय उनके व्यवहार को देखकर मरीजों में गजब का आत्मविश्वास पैदा होने लगता है। दोपहर को चाय के साथ पोहा व फ्राइड चने दिए जाते है। मरीजों को पर्याप्त एवं पौष्टिक खाना दिया जा रहा है। सीजनल फल एवं सब्जी का भी इंतजाम है। पानी की बोतल मांगने पर तुरंत दी जाती है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.