फेसबुक पर लाइव आए नगर आयुक्त, शहर को सुंदर बनाने के लिए चलाएंगे चोमू बनाम चैपिंयन अभियान

फेसबुक पर लाइव आए नगर आयुक्तः जागरण

नगर आयुक्त ने बताया कि फेसबुक पर लाइव आने का मकसद उन नौकरीपेशा लोगों से भी संपर्क करना है जो कि समय के अभाव में उनसे नहीं मिलकर अपनी समस्याएं नहीं बता पाते। या फिर ऐसे लोग जो कि समस्याओं की शिकायत करने के लिए कार्यालय नहीं आ पाते हैं।

Mangal YadavSat, 06 Feb 2021 01:11 PM (IST)

गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। तय कार्यक्रम के तहत शनिवार सुबह 11 बजे नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर गाजियाबाद नगर निगम के फेसबुक अकाउंट पर लाइव आए। इस दौरान बड़ी संख्या में शहरी उनसे जुड़े और शहर में बुनियादी सुविधाओं, विकास को लेकर कई सवाल पूछे, जिसका जल्द निस्तारण करने के लिए उन्होंने आश्वासन दिया है। इसके साथ ही उन्होंने शहरियों से अपील की है कि वे शहर को स्वच्छ बनाने में योगदान दें। सप्ताह में एक दिन श्रमदान करें।

इसके साथ ही अब शहर में चोमू बनाम चैंपियन अभियान चलाया जाएगा। चोमू वह व्यक्ति होंगे जो गंदगी फैलाते हुए सड़कों पर नजर आएंगे और चैंपियन वह व्यक्ति होंगे जो शहर को स्वच्छ बनाने के लिए प्रयास करते हुए नजर आएंगे। उनकी तस्वीर दिखाई जाएगी।

नगर आयुक्त महेंद्र सिंह तंवर ने बताया कि फेसबुक पर लाइव आने का मकसद उन नौकरीपेशा लोगों से भी संपर्क करना है जो कि समय के अभाव में उनसे नहीं मिलकर अपनी समस्याएं नहीं बता पाते हैं। या फिर ऐसे लोग जो कि समस्याओं की शिकायत करने के लिए नगर निगम कार्यालय नहीं आ पाते हैं। फेसबुक पर लाइव आने पर नगर आयुक्त से शहर में स्ट्रीट लाइट बंद होने, पार्कों का सुंदरीकरण न होने, सड़कों पर गंदगी होना, सड़क में गड्ढे होना, साप्ताहिक बाजार वाले स्थानों पर गंदगी की शिकायत की गई है।

नगर आयुक्त ने बारी-बारी से सभी समस्याओं के समाधान का आश्वासन दिया है। इसके साथ ही जनता से अपील की है कि शहर को साफ और सुंदर बनाने के लिए नगर निगम को सपोर्ट करें, जिससे की शहर को साफ-सफाई में देश में नंबर एक पर ला सकें।

शिकायत: मुख्यमंत्री ने सड़कों को गड्ढामुक्त करने के निर्देश दिए हैं, फिर भी सड़कें गड्ढामुक्त क्यों नहीं हुई है।

जवाब: शहर में पीडब्ल्यूडी और नगर निगम द्वारा सड़कें बनाई जाती हैं। नगर निगम द्वारा जिन सड़कों को गड्ढामुक्त कराया जाना है। उनको जल्द ही गड्ढामुक्त करवाया जाएगा। सर्दी के कारण अभी सड़कों को गड्ढामुक्त कराने का काम नहीं कराया जा रहा है। इस बार गर्मी में सड़कों को गड्ढामुक्त करवाया जाएगा।

सवाल: अतिक्रमण की शिकायत किए हुए आठ माह हो गया, अब तक समाधान नहीं किया गया।

जवाब: आठ माह का समय बहुत लंबा होता है। सबसे पहले यह चेक करना पड़ेगा कि अतिक्रमण किस तरह का है। अस्थाई है या स्थाई, इसकी जांच करवाकर कार्रवाई की जाएगी।

सवाल: कई वर्षों से एक ही स्थान पर काम कर रहे अधिकारियों और कर्मचारियों का ट्रांसफर होना आवश्यक है, कब होगा।

जवाब: ट्रांसफर दो तरह से होते हैं। एक वे अधिकारी या कर्मचारी होते हैं जिनका ट्रांसफर शासन से होता है जैसे की नगर आयुक्त के तौर पर मेरा ट्रांसफर। दूसो वे कर्मचारी होते हैं, जिनका ट्रांसफर करने का अधिकार नगर आयुक्त को होता है। ऐसे कर्मचारी जो लंबे समय से एक ही स्थान पर हैं, उनका अप्रैल से ट्रांसफर किया जाएगा।

सवाल: नगर निगम डीजल पंप के पीछे गंदगी है, प्रकाश की भी व्यवस्था नहीं है। चंद्रनगर में भी सड़क पर कूड़ाघर है। उसे कब हटवाया जाएगा।

जवाब: डीजल पंप के पास जो गंदगी है उसे साफ करवाया जाएगा। प्रकाश व्यवस्था के लिए चेक किया जाएगा कि वहां पर पोल लगे हैं या नहीं। चंद्रनगर में सफाई के लिए भी टीम भेजी जाएगी। सड़क से कूड़ाघर हटवाया जाएगा।

सवाल: आपने खेल के मैदान बनाने की बात कही थी, उसका क्या हुआ।

जवाब: खेल के मैदान बनाने के लिए एक प्रोसेस को फॉलो करना पड़ता है जो किया जा रहा है। जिसमें समय लगता है। नगर निगम द्वारा 200 पार्कों को विकसित करने का लक्ष्य तय किया गया है, जिस पर कार्य शुरू हो गया है।

सवाल: डस्ट फ्री अभियान क्या है, गीले कूड़े का निस्तारण करने के लिए क्या कदम उठाए जा रहे हैं।

जवाब: डस्ट फ्री अभियान के तहत सड़कों से धूल उठाकर सीएंडडी वेस्ट प्लांट ले जाया जाता है। यह एक मुहिम है, एक थैले में छह किलो धूल आती है अब तक 90 हजार थैले में धूल सड़कों से उठाई जा चुकी है। शहरियों को भी प्रयास करना चाहिए कि वह सप्ताह में एक दिन श्रमदान करें। गीले कूड़े का निस्तारण किया जा रहा है लेकिन शहरियों को भी प्रयास करना चाहिए कि घर-घर में गीले कूड़े से गमलों के लिए खाद तैयार करें, जिससे की शहर में प्रतिदिन निकलने वाले 1,500 टन कूड़े में कमी आए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.