UP Police के अजब एनकाउंटर की गजब कहानी, पढ़िए- यह हैरान करने वाला मामला

साहिबाबाद [अवनीश मिश्रा]। दिल्ली से सटे यूपी के इंदिरापुरम थाना पुलिस द्वारा रविवार रात मुठभेड़ के दौरान फार्मासिस्ट की हत्या कर चोरी करने वाले दो आरोपितों के गिरफ्तार करने के मामले में नया मोड़ आ गया है। मुठभेड़ में उस बदमाश को भी गिरफ्तार करने का दावा किया गया है, जिसे 17 अक्टूबर को वैशाली के लोगों ने चोरी करने के दौरान पकड़कर पुलिस को सौंपा था। इससे मुठभेड़ पर सवाल खड़े हो गए हैं।

पुलिस थ्योरी पर उठे कई सवाल

पुलिस के प्रेस नोट में बताया गया कि इंदिरापुरम थाना पुलिस ने रविवार रात सवा नौ बजे चेकिंग के दौरान कनावनी पुलिया के पास नहर रोड पर स्कूटी सवार दो संदिग्धों को रोका, तो एक ने फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में आरोपित सन्नी जाटव निवासी इटावा के पैर में गोली लगी। उसे गिरफ्तार कर लिया गया। मौके से भागे उसके साथी आकाश निवासी मुजफ्फरनगर को रात 9:45 बजे शक्ति खंड - चार स्थि शिव हनुमान मंदिर के पास से गिरफ्तार किया गया। पुलिस ने बताया कि 30 अगस्त को गोविंदपुरम में फार्मासिस्ट पंकज धवन की हत्याकर चाेरी करने के मामले में दोनों वांछित थे। दोनों पर 25 - 25 हजार रुपये का इनाम था।

पुलिस की खुली पोल

वैशाली सेक्टर - तीन एफ में रहने वाले लोगों ने 17 अक्टूबर को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल कर दो चोरों को पकड़कर पुलिस के हवाले करने का दावा किया था। लोगों ने वीडियो में आरोप लगाया था कि दोनों चोर एक बंद फ्लैट में घुसकर चोरी कर रहे थे। आवाज होने पर पड़ोसियों ने उन्हें दबोच कर पुलिस को सौंप दिया था। उनके पास से पेंचकस, रिंच, हथौड़ा, ताला, बैग आदि बरामद किया था। लोगों द्वारा पुलिस को पकड़कर सौंपे गए दोनों आरोपितों में एक आकाश भी था। रविवार रात मुठभेड़ के बाद पुलिस ने आरोपितों की जो तस्वीर जारी की उसमें आकाश वही टी-शर्ट पहने दिखा, जो उसने 17 अक्टूबर को पहन रखी थी। पुलिस द्वारा बरामद किए गए कुछ सामान भी वही थे।

पुलिस का दावा कुछ और

मुठभेड़ पर सवाल उठने के बाद सोमवार को पुलिस ने स्वीकार किया कि आरोपित आकाश को लोगों ने पकड़कर उनके हवाले किया था। पूछताछ व सीडीआर निकलवाने पर सामने आया कि आरोपित ने गोविंदपुरम में 30 अगस्त को हुए पंकज धवन की हत्या कर चोरी के करने में शामिल था। आरोपित के दूसरे साथी सन्नी जाटव को पकड़ने के लिए विश्वास में लेकर उसे छोड़ा गया। सन्नी को साथ लेकर घटना करने जाते समय रविवार को उसे मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया गया।

मां बोली, अधिवक्ता से मिली जानकारी

आरोपित आकाश की मां प्रवीन ने बताया कि रविवार दिन में उन्हें एक अधिवक्ता ने कॉल कर बताया कि उनके बेटे को इंदिरापुरम पुलिस ने पकड़ रखा है। यह सुनकर वह शाम को थाना पहुंची लेकिन उन्हें आकाश से मिलने नहीं दिया गया। सोमवार सुबह उन्हें पता चला कि उनके बेटे को मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने गिरफ्तार करने का दावा किया है। उन्होंने कहा है कि वह इसकी पुलिस के आलाधिकारियों से शिकायत करेंगी।

सुधीर कुमार सिंह (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक) के मुताबिक, लोगों ने आरोपित आकाश को पकड़कर पुलिस को सौंपा था। पूछताछ कर सीडीआर निकलवाई गई, तो पता चला कि गोविंदपुरम में पंकज धवन की हत्या में यह शामिल था। आकाश ने दूसरे साथी सन्नी जाटव के नोएडा होने की जानकारी दी लेकिन पता नहीं मालूम होने की बात की। इस पर आकाश को विश्वास में लेकर सन्नी को ट्रैप करने के लिए छोड़ा गया। उसके बाद रविवार को दोनों लूट करने इरादे से आए, तो मुठभेड़ में गिरफ्तार किया गया।

  खुशखबरी : सिर्फ 3 से 6 मिनट के अंतराल में मिलेंगी बसें, लाखों लोगों का सफर होगा आसान

आखिर पत्नी ने पति को 50 फीट ऊपर से क्यों फेंका नीचे, 3 दिन बाद हुआ सनसनीखेज खुलासा

1 अप्रैल के बाद खरीदी है गाड़ी तो पढ़िए यह जरूरी खबर, लगवानी होगी हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट

 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.