गाजियाबाद में कारोबारी की पत्नी व बेटे को बंधक बनाकर 3.5 लाख की लूट

पीड़ित प्रवीन सिंघल इलेक्ट्रॉनिक सामान की दुकान चलाते हैं।

शास्त्री नगर में बुधवार रात करीब आठ बजे दो बदमाशों ने कारोबारी की पत्नी और बच्चे को घर में बंधक बनाकर ढाई लाख रुपये व सवा लाख रुपये की ज्वेलरी लूट ली। दोनों बदमाश चाकू लेकर घर में घुसे और आधा घंटे तक लूटपाट की।

Prateek KumarWed, 24 Mar 2021 10:55 PM (IST)

गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। शास्त्री नगर में बुधवार देर शाम दो बदमाशों ने कारोबारी की पत्नी और बच्चे को घर में बंधक बनाकर ढाई लाख रुपये व सवा लाख रुपये की ज्वेलरी लूट ली। बदमाश महिला के 12 वर्षीय बेटे के मुंह में जूता चिपकाने वाली गम भरकर कमरे में बंद कर फरार हो गए। रात 11 बजे तक वारदात से दहशत रही, सोसायटियों के लोग घरों के बाहर मौजूद रहे। फोरेंसिक टीम ने देर रात मौके पर पहुंचकर फिंगर प्रिंट सहित अन्य सैंपल लिए।

कारोबारी परवीन सिंघल की पटेल नगर में इलेक्ट्रॉनिक सामान की दुकान है। घर पर उनकी पत्नी शालिनी सिंघल और 11 वर्षीय बेटा प्रणव थे। शालिनी ने बताया कि सवा सात बजे वह मोबाइल के जरिए घर का बिजली का बिल जमा कर रही थीं, इस दौरान डोरबेल बजी। प्रेसवाले को घर आया समझ उन्होंने दरवाजा खोल दिया। दरवाजा खुलते ही उनको धक्का देते हुए हेलमेट पहने दो बदमाश घ्रर के अंदर दाखिल हो गए और गेट बंद कर दिया। शालिनी ने विरोध जताया और बदमाशों को धक्का देकर घर से निकलने का प्रयास किया। इस दौरान प्रणव भी आ गया, उसने वाइपर उठाकर बदमाशों को मारा। तभी एक बदमाश ने प्रणव को पकड़ लिया और अपने साथ लाए थैले से चाकू निकालकर उसकी गर्दन पर रख दिया।

बदमाशों ने शोर मचााने पर प्रणव को जान से मारने की धमकी दी तो शालिनी ने उनके सामने हाथ जोड़कर बच्चे को छोड़ने के लिए कहा। बदमाशों ने दोनों को कमरे में ले जाकर बंद कर दिया और घर में रुपये कहां रखे हैं, ये पूछने लगे। शालिनी ने रुपये न होने की बात कही तो खुद ही घर में नकदी की तलाश करने लगे। एक कमरे में रखी अलमारी उनसे नहीं खुली तो शालिनी को कमरे से लेकर गए और अलमारी खुलवाई, जिसमें रखे ढाई लाख रुपये नकद और जेवर बदमाशों ने लूटे। रात करीब आठ बजे बदमाश घर में लगे सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर और शालिनी का मोबाइल लेकर दोनों को कमरे में बंद कर भाग गए।

ऐसे चला पता

रात को करीब साढ़े आठ बजे जब परवीन ने शालिनी को फोन किया तो उनका मोबाइल बंद मिला। चार-पांच बार फोन करने पर भी जब शालिनी के फोन पर घंटी नहीं बजी तो उन्होंने पड़ोस में रहने वाली एक महिला को फोन किया। महिला ने परवीन के कहने पर उनके घर में जाकर देखा तो सामान बिखरा पड़ा था, कमरे में शालिनी और प्रणव के बंद होने की उनको जानकारी नहीं हो सकी। इस संबंध में उन्होंने परवीन को बताया। परवीन ने पास ही रहने वाले दोस्त नवीन को फोन कर घर भेजा और खुद भी दुकान से घर के लिए निकले। नवीन ने पड़़ोसियों की मदद से घर में जाकर खोजबीन की। दरवाजा खोला तो अंदर शालिनी और प्रणव बंद मिले। इस बीच परवीन भी घर पहुंच गए। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। आधा घंटे बाद पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। इसके बाद एसपी सिटी प्रथम निपुण अग्रवाल भी पहुंचे।

 

महिला से बातचीत कर बदमाशों के बारे में जानकारी करने का प्रयास किया जा रहा है। रिपोर्ट दर्ज कर वारदात का जल्द पर्दाफाश किया जाएगा। घटनास्थल के आसपास लगे कैमरों की सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है। तीन टीमें बदमाशों की तलाश में लगाई गई हैं।

निपुण अग्रवाल, एसपी सिटी प्रथम।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.