Muradnagar Roof Collapse Incident: स्थानीय लोगों की मदद से बचाई गई 15 जिंदगी

पुलिस और एनडीआरएफ की टीम ने मलबे से लोगों को बाहर निकाला।

Muradnagar Roof Collapse Incident करीब पौन घंटे तक बिना किसी संसाधन के स्थानीय लोग मलबे में फंसे लोगों को बचाने में जुटे रहे। उन्होंने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के पहुंचने से पहले पौन घंटे में 15 लोगों को मलबे से बाहर निकाल लिया। इससे कई लोग की जान बच सकी।

Publish Date:Mon, 04 Jan 2021 12:50 PM (IST) Author: JP Yadav

गाजियाबाद, जागरण संवाददाता। श्मशान स्थल की गैलरी की छत गिरने से तेज आवाज हुई। गांव में शोर मच गया कि मलबे में लोग दब गए हैं। सूचना पर लोग बचाने को दौड़े। करीब पौन घंटे तक बिना किसी संसाधन के स्थानीय लोग मलबे में फंसे लोगों को बचाने में जुटे रहे। उन्होंने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के पहुंचने से पहले पौन घंटे में 15 लोगों को मलबे से बाहर निकाल लिया। इससे कई लोग की जान बच सकी। बाद में पहुंची पुलिस और एनडीआरएफ की टीम ने मलबे से लोगों को बाहर निकाला। स्थानीय निवासी जोगेंद्र कुमार ने बताया कि वह दुर्घटनास्थल से 500 मीटर दूर ही रहते हैं। सूचना पर वह मौके पर पड़ोसी अजहरुद्दीन संग पहुंचे। आसपास के करीब 100 लोग मिलकर मलबे में फंसे लोगों को बचाने में जुटे। स्थानीय निवासी अरुण शर्मा ने बताया कि वह श्मशान स्थल पर दुर्घटना के 20 मिनट बाद ही पहुंच गए थे, तब लोग चीख-पुकार रहे थे। जयराम के शव का अंतिम संस्कार कराने आए लोगों की मदद से उन्होंने मलबे को हटाकर लोगों को बाहर निकलवाया। स्थानीय निवासियों का कहना है कि उनका प्रयास था कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को मलबे से बाहर निकाला जा सके। 

हादसा वक्त की नजर से

10:30 पर मृतक जयराम के स्वजन व अन्य लोग अंतिम संस्कार के लिए मोक्ष धाम पहुंचे 11:10 पर अंतिम संस्कार के पश्चात आत्मा की शांति के लिए सभी लोग गैलरी में जमा होकर प्रार्थना करने लगे 11:15 पर गैलरी की छत जोरदार आवाज के साथ ढह गई 11:30 पर मुरादनगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और लोगों को निकालना शुरू किया 11:55 पर डीएम व एसएसपी मौके पर पहुंचे और मलबे में दबे लोगों के स्वजनों से बात की 12:40 पर पीएसी की टीम मौके पर पहुंची और मौके पर जुटी भीड़ को हटाया 12:45 पर एनडीआरएफ को सूचना दी गई। 12:50 पर एनडीआरएफ से क्यूआरटी (क्विक रेस्पान्स टीम) मौके पर रवाना हुई। 01:15 पर एनडीआरएफ टीम ने मौके पर पहुंचकर बचाव कार्य शुरू किया। 01:30 पर स्थानीय विधायक अजीतपाल त्यागी दुघर्टनास्थल पर पहुंचे और लोगों को सांत्वना दी 01:30 पर भारी बारिश के चलते करंट फैलने की आशंका को देखते हुए बिजली के तारों को काटा गया। 02:10 पर राज्यमंत्री अतुल गर्ग ने मौके पर जाकर बचाव कार्य का जायजा लिया 02: 30 पर कमिश्नर अनीता सी मेश्रम दुर्घटनास्थल पर पहुंची 02: 50 पर आइजी रेंज मेरठ प्रवीण कुमार मौके पर पहुंचे और पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए। 04:00 के करीब बचाव कार्य समाप्त करने के बाद जेसीबी लौटने लगी, हालांकि दुर्घटनास्थल पर भीड़ शाम तक जुटी रही।

 Muradnagar Roof Collapse Incident: दारोगा बन पिता का नाम रोशन करना चाहता था दिग्विजय

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.