top menutop menutop menu

एमएसएमई सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए 411 करोड़ के ऋण स्वीकृत

जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : केंद्र सरकार की ओर से सूक्ष्म, लघु और मध्यम आकार (एमएसएमई सेक्टर) के उद्योगों को उबारने के लिए तीन लाख करोड़ रुपये के अतिरिक्त ऋण की घोषणा की गई थी। जनपद में 11 हजार से अधिक उद्यमी इस पैकेज में ऋण लेने के लिए पात्र हैं, जिनमें से करीब चार हजार लोगों को 217 करोड़ रुपये से अधिक का ऋण दिया गया है। वहीं स्ट्रीट वेंडर को 10-10 हजार रुपये का लोन देने के लिए अभी पोर्टल लांच करने की तैयारी चल रही है।

केंद्र सरकार की ओर से नेशनल क्रेडिट गारंटी ट्रस्टी कंपनी के माध्यम से छोटे व्यापारियों को तीन लाख करोड़ रुपये का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। जनपद के पात्र 11 हजार 270 उद्यमियों को 1235 करोड़ रुपये का ऋण दिया जा सकता है। बता दें कि एमएसएमई सेक्टर को तीन श्रेणी में बांटा गया था। इनमें माइक्रो इंडस्ट्रीज मैन्युफैक्चरिग में 25 लाख रुपये तक इंवेस्टमेंट, स्माल इंडस्ट्रीज में 25 लाख से पांच करोड़ रुपये तक व मीडियम में पांच करोड़ से 10 करोड़ रुपये तक का इंवेस्टमेंट तय था। वहीं सर्विस प्रोवाइडर में माइक्रो के लिए 10 लाख तक, स्माल के लिए 10 से 25 लाख तक एवं मीडियम के लिए दो करेाड़ से पांच करोड़ की इंवेस्टमेंट सीमा तय की गई है। जून माह से एमएसएमई की धाराएं चेंज की हैं, जिसमें माइक्रो इंटरप्राइजेज प्लांट मशीनरी में एक करोड़ तक इंवेस्टमेंट या पांच करोड़ रुपये तक टर्न ओवर, स्माल में 10 करोड़ रुपये तक इंवेस्टमेंट या 50 करोड़ रुपये का टर्नओवर व मीडियम में पांच से 10 करोड़ का इंवेस्टमेंट या 250 करोड़ रुपये का टर्नओवर लागू किया गया है। बैंक अधिकारियों की मानें तो केंद्र सरकार की ओर से जारी तीन लाख करोड़ रुपये के पैकेज में गाजियाबाद जनपद के पात्र 11,270 उद्यमियों के हिस्से 1235 करोड़ रुपये आते हैं। इनमें से अभी तक 5247 लोगों के करीब 411 करोड़ रुपये ऋण आवेदन को स्वीकृत किया गया है, जबकि 3099 लोगों के खाते में 217.66 करोड़ रुपया पहुंचाया गया है। इसके साथ ही स्ट्रीट वेंडर को 10-10 हजार रुपये के लोन के लिए पोर्टल तैयार कराया जा रहा है। इसके बाद आसानी से उन्हें बिना गारंटी वाले लोन मिल सकेंगे। इन बैंकों ने दिया ऋण

बैंक ग्राहक लोन लाख में

एचडीएफसी 290 6349.54

पीएनबी 240 992

कैनरा बैंक 545 1863

बैंक ऑफ महाराष्ट्र 35 372.36

पंजाब एंड सिध बैंक 397 706

आइसीआइसीआइ बैंक 199 7094.89

फेडरल बैंक 4 20.46

बैंक ऑफ इंडिया 857 1480.90

इंडिया ओवरसीज बैंक 103 405.40

इंडियन बैंक 106 753.28

आंध्रा बैंक 51 427.9

यूबीआइ 193 694

बैंक ऑफ बड़ौदा 27 126.38

यूनाइटेड बैंक इंडिया 34 62.28

टीएन मर्चेंटाइल बैंक 15 146.57

यस बैंक 1 54.19

कुल 3099 21766.15 माइक्रो, स्माल व मीडियम इंडस्ट्रीज को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने आसानी से ऋण उपलब्ध कराने के लिए पैकेज दिया है। इसमें गाजियाबाद के उद्यमियों ने खासा उत्साह दिखाया है। पात्रों के रूप में यहां 11 हजार से अधिक उद्यमी हैं, जिनमें से करीब पांच हजार ने आवेदन किया था। इनमें से चार हजार उद्यमियों को 217 करोड़ से अधिक का लोन उनके खातों में पहुंच गया है। पात्रों को सभी बैंक आसानी से ऋण उपलब्ध करा रहे हैं।

- एसपी यादव, अग्रणी बैंक प्रबंधक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.