ट्रांसपोर्ट की कमी के कारण गन्ना खरीद धीमी

संवाद सहयोगी बिदकी गन्ना खरीद की रफ्तार धीमी होने से किसान परेशान हैं। मजबूरी में सस्ते

JagranWed, 01 Dec 2021 11:58 PM (IST)
ट्रांसपोर्ट की कमी के कारण गन्ना खरीद धीमी

संवाद सहयोगी, बिदकी : गन्ना खरीद की रफ्तार धीमी होने से किसान परेशान हैं। मजबूरी में सस्ते मूल्य पर क्रेसर में बेच रहा है। अगले हफ्ते ही यह हालात सुधरने की उम्मीद है। हैदरगढ़ चीनी मिल को जिले व कानपुर के घाटमपुर से गन्ने की खरीद करनी है। चीनी मिल दोनों जनपदों को मिलाकर तेरह गन्ना खरीद केंद्र खोले हैं। सभी खरीद केंद्रों पर गन्ना खरीद शुरू हो चुकी है। चीनी मिल एक दिन में एक गन्ना खरीद केंद्र पर 500 क्विटल तक गन्ने की खरीद कर सकती है। इसके लिए चीनी मिल को किसानों गन्ना पर्ची यानी इंडेंट जारी करना होता है। गन्ना खरीद केंद्रों पर गन्ना ढुलाई के लिए 55 ट्रकों की जरूरत है। इसके सापेक्ष चीनी मिल ने अभी तक 25 ट्रक ही लगाए हैं। करीब आधे ट्रकों के सहारे ढुलाई के काम को छोड़ दिया गया है। इससे खरीद पर सीधे असर पड़ रहा है।

यह हैं गन्ना खरीद केंद्र

फतेहपुर जिले में चीनी मिल ने धाता ए, बी व सी, अइमापुर, किशुनपुर, सैदनपुर, खजुहा, बकेवर, नसेनियां, सठिगवां शामिल हैं।

प्रतिदिन खरीद का यह है औसत

बिदकी तहसील के गन्ना खरीद केंद्रों में प्रतिदिन औसतन गन्ना खरीद के लिए चीनी मिल 500 क्विटल प्रति केंद्र के हिसाब से खरीद पर्ची जारी करती है। जबकि खागा में प्रत्येक केंद्र के लिए औसत खरीद 800 क्विटल प्रति केंद्र है। जबकि घाटमपुर के दोनों क्रय केंद्रों पर खरीद का औसत 500 क्विटल प्रति क्रेंद्र प्रति दिन ही है।

बिदकी क्षेत्र में क्रेसर में गन्ने का भाव

बिदकी क्षेत्र खुले गन्ना क्रेसर में गन्ने का भाव 275 रुपये प्रति क्विटल है। जबकि खागा में यह भाव 300 रुपये प्रति क्विटल के आसपास है। इस कारण चीनी मिल को उम्मीद है कि इस बार खागा क्षेत्र से अधिक गन्ना नहीं मिल पाएगा। बिदकी में क्रेसर का भाव कम होने से यहां पर गन्ना खरीद अधिक होने की उम्मीद बढ़ गई है।

क्या बोले जिम्मेदार

ट्रांसपोर्ट की कमी के कारण गन्ना खरीद धीमी है। ट्रक न आने के बाद क्रय केंद्रों पर तौल का धीमा हो गया है। गन्ना ट्राली क्रय केंद्रों में खड़ी हैं। अब चीनी मिल से ट्रांसपोर्ट दुरुस्त करने को कहा गया है। 55 ट्रकों की प्रतिदिन गन्ना केंद्रों से गन्ना ढुलाई की जरूरत है। पर अभी तक चीनी मिल ने सिर्फ 25 ट्रक ही लगाए हैं। धाता क्षेत्र में क्रेसर पर गन्ना का भाव 300 रुपये प्रति क्विटल होने से भी उधर गन्ने की खरीद प्रभावित रहेगी। अब इसकी भरपाई बिदकी से होने की उम्मीद है। जसवंत सिंह सचिव जिला गन्ना सहकारी समिति फतेहपुर

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.