फतेहपुर की जनता सात दिसंबर तक उठाए चना-गेहूं, बंद होगी निश्शुल्क योजना

फतेहपुर की जनता सात दिसंबर तक उठाए चना-गेहूं, बंद होगी निश्शुल्क योजना

जागरण संवाददाता फतेहपुर कोरोना संक्रमण के चलते शुरू की गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण यो

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:59 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : कोरोना संक्रमण के चलते शुरू की गई प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना अब 7 दिसंबर 2020 से बंद हो जाएगी। योजना के तहत जिले के पांच लाख राशनकार्ड धारकों को अब आखिरी माह नवंबर का निश्शुल्क चना व गेहूं का वितरण 07 दिसंबर 2020 तक किया जा रहा है।

जिले के 5 लाख 11 हजार राशनकार्ड धारकों के लिए 1109 कोटेदारों के यहां 1 लाख क्विटल गेहूं, 1 हजार क्विटल चीनी, 5 हजार क्विटल चने का वितरण होता था। माह में दो बार खाद्यान्न का दो मर्तबा वितरण होता था। कोरोना संक्रमण को देखते हुए विभागीय कर्मचारी व अफसर शारीरिक दूरी के मानक पर खाद्यान्न वितरण करा रहे थे। कोरोना संक्रमण में लॉकडाउन के चलते केंद्र सरकार ने मई 2020 से प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना शुरू की थी जिसमें प्रत्येक राशनकार्ड धारक को एक किलो चना व पांच किलो गेहूं मुहैया कराया जा रहा था। नवंबर माह के दूसरे वितरण चक्र में निश्शुल्क चना व गेंहू वितरण शुरू हो गया है जो 07 दिसंबर तक बंटेगा। इसके बाद गरीब कल्याण योजना बंद हो जाएगी। इस योजना से 5.11 लाख राशनकार्ड धारक लाभान्वित हो रहे थे।वरिष्ठ लिपिक अशफाक खान ने बताया कि कि त्योहार में चीनी सिर्फ अंत्योदय कार्डधारकों के लिए आई थी जो अक्टूबर में ही एक किलो के हिसाब से तीन माह की एकमुश्त दिसंबर तक दे दी गई है। सात दिसंबर तक लाभान्वित हों

कोरोना संक्रमण में लॉकडाउन के चलते केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री कल्याण गरीब योजना शुरू की थी जिसे नवंबर तक ही चालू करने के निर्देश मिले थे। दिसंबर माह का चना व गेहूं भी नहीं आया है इसलिए नवंबर माह का वितरण 7 दिसंबर तक कराया जा रहा है क्योंकि 30 नवंबर तक खाद्यान्न का उठान नहीं हो सका था। जिससे अब सिर्फ माह में एक बार ही खाद्यान्न गेंहू व चावल वितरण किया जाएगा। शासन की गाइडलाइन पर ही काम किया जाएगा।

अंजनी कुमार सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी जिले के खाद्यान्न वितरण पर नजर

कोटेदार 1109

गेहूं व चावल आमद 1000 क्विंटल

चना 5000 क्विंटल

चीनी 1000 क्विंटल

निश्शुल्क वितरण- मई से नवंबर तक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.