top menutop menutop menu

1988 में विनय कटियार ने भरा था युवाओं में जोश

1988 में विनय कटियार ने भरा था युवाओं में जोश
Publish Date:Mon, 03 Aug 2020 11:54 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : वर्ष 1988 में शहर के वर्मा चौराहे पर बजरंग दल के पहले राष्ट्रीय संयोजक फायर ब्रांड हिदू नेता विनय कटियार ने जनसभा कर युवाओं में जोश भरा था। यहां पर अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण को लेकर बिगुल फूंका गया था। अब वही शुभ घड़ी आने पर पुरानी यादें ताजा हो गई हैं। वर्तमान में अखिल भारत हिदू महासभा के प्रांतीय महामंत्री मनोज त्रिवेदी ने तब सभा का संचालन किया था। कारसेवकों की जुबानी

वर्ष 1989 में मंदिर आंदोलन में कारसेवकों को ले जाने की जिम्मेदारी मिली थी। जत्थे के साथ अयोध्या के लिए कूच कर रहे थे, तभी स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। इसके बाद प्रतापगढ़ जेल में 14 दिन तक बंद रहे थे। वर्ष 1992 में फिर कारसेवा की थी। अब मंदिर निर्माण से खुशी है।

-मनोज शुक्ल, पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा कारसेवा के लिए युवाओं को तैयार कर अयोध्या भेजने का दायित्व दिया गया था। गांव-गांव जाकर लोगों को भगवान राम काभव्य मंदिर बनवाने के लिए जागृत किया था। जोशीले नारे लगाए थे। मंदिर निर्माण से मन प्रसन्न है।

-उज्जैन सिंह, पूर्व प्रचारक, आरएसएस अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का सपना अब मूर्त रूप ले रहा है। निश्चित ही यह सबसे बड़ी खुशी की बात है। वर्ष 1989 व 1992 की कारसेवा में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। राम ज्योति यात्रा, रथयात्रा व शिला पूजन कार्यक्रमों में हिस्सा लेकर सभी को राम के आदर्श अपनाने के लिए प्रेरित किया था।

-अंबिका प्रसाद गुप्त, कारसेवक वर्ष 1989 में राम मंदिर आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। सड़क पर उतरकर गिरफ्तारी भी दी थी। 14 दिन तक प्रतापगढ़ जेल में रहे थे। वर्ष 1992 में भी हुई कारसेवा में अयोध्या तक गए थे। अब बेहद खुशी है।

-राधेश्याम हयारण, कारसेवक।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.