फतेहपुर में नवनियुक्त 81 शिक्षक जीआइसी को संवारने में खपाएंगे ऊर्जा

फतेहपुर में नवनियुक्त 81 शिक्षक जीआइसी को संवारने में खपाएंगे ऊर्जा

जागरण संवाददाता फतेहपुर बीते बीस सालों के इतिहास में राजकीय शिक्षण संस्थानों को

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 06:18 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, फतेहपुर : बीते बीस सालों के इतिहास में राजकीय शिक्षण संस्थानों को 81 नए शिक्षक-शिक्षिकाओं की खेप मिली है। लोक सेवा आयोग से चयन के बाद इन नव नियुक्त शिक्षक-शिक्षिकाओं ने ज्वाइनिग प्रक्रिया भी पूरी कर ली है। अब इनको विभागीय कामकाज के लिए प्रशिक्षण देकर दक्ष किए जाने की योजना है। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम मुख्यालय के जीआइसी में होगा। जिले में 40 राजकीय शिक्षण संस्थान संचालित हो रहे हैं। इनमें 5 इंटर कॉलेज हैं और शेष में कक्षा 9 और 10 की कक्षाएं संचालित होती हैं। इन विद्यालयों में शिक्षकों का टोटा लंबे समय से चल रहा है। हर साल शिक्षक सेवानिवृत्त हो रहे हैं और स्थानांतरण करवाकर जा रहे हैं। जिसके चलते संचालन की दिक्कत आ रही थी। आयोग ने जिले को एकमुश्त 81 शिक्षक दिए हैं। जिससे विद्यालय संवरने की दशा में बढ़ेंगे। इन नव नियुक्त शिक्षकों को माध्यमिक शिक्षा विभाग प्रशिक्षण देगा। मुख्यालय के राजकीय इंटर कॉलेज में प्रशिक्षण 2 दिसंबर से होगा। तीन दिवसीय प्रशिक्षण के लिए विभागीय अधिकारियों के साथ जिले में नियुक्त संदर्भदाता, डायट के प्रशिक्षण तथा स्टेट स्तरीय प्रशिक्षक प्रशिक्षण देंगे।

------------

राजकीय शिक्षण संस्थान : 40

अभी तक तैनात शिक्षकों की संख्या : 105

आयोग द्वारा चयनित शिक्षकों की संख्या : 82

चयन के बाद इस्तीफा देने वाले शिक्षकों की संख्या : 01

राजकीय शिक्षण संस्थानों में कुल शिक्षकों की संख्या : 187

------------

बदहाली के दौर से गुजर रहे थे राजकीय स्कूल

जिले में संचालित 40 राजकीय स्कूलों की संख्या के सापेक्ष शिक्षकों का व्यापक पैमाने पर टोटा था। हालात यह है रहे है कि एक विद्यालय में दो की संख्या पहुंच पा रही थी। उच्चीकृत राजकीय हाईस्कूल में सवित्त विद्यालयों के शिक्षकों को संचालन के लिए संबद्ध किया गया है। कारण कि इंटर कॉलेजों में दहाई की संख्या में शिक्षक तैनाती पाए थे।

------------------

क्या बोले जिम्मेदार

राजकीय विद्यालयों में लंबे अंतराल के बाद 82 शिक्षकों का चयन हुआ है हलांकि एक शिक्षक ने इस्तीफा दे दिया है। इस नियुक्ति से विद्यालयों की दशा और दिशा बदलेगी। 2 दिसंबर से राजकीय इंटर कॉलेज में इन नव नियुक्त शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। जिससे कि यह अपने दायित्व निर्वहन में खरे उतर सकें।

महेंद्र प्रताप सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.