कार्यशाला में उम्मीद से अधिक भीड़ होने से रही अव्यवस्था

संवाद सहयोगी कायमगंज आंगनबाड़ी केंद्रों पर आने वाले नन्हें मुन्ने बच्चों के बौद्धिक विकास क

JagranPublish:Mon, 29 Nov 2021 09:02 PM (IST) Updated:Mon, 29 Nov 2021 09:02 PM (IST)
कार्यशाला में उम्मीद से अधिक भीड़ होने से रही अव्यवस्था
कार्यशाला में उम्मीद से अधिक भीड़ होने से रही अव्यवस्था

संवाद सहयोगी, कायमगंज : आंगनबाड़ी केंद्रों पर आने वाले नन्हें मुन्ने बच्चों के बौद्धिक विकास को हुई अर्ली चाइल्ड केयर एजूकेशन की कार्यशाला में उम्मीद अधिक उपस्थिति होने से अव्यवस्था रही। बैठने को कुर्सियां कम पड़ गई। जिससे अनेक अध्यापकों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को खड़ा रहना पड़ा।

कायमगंज ब्लाक संसाधन केंद्र पर सोमवार को हुई कार्यशाला में 350 से अधिक लोगों के आने की संभावना के बावजूद सिर्फ 150 लोगों के बैठने की व्यवस्था हुई। जिससे अव्यवस्था रही। ब्लाक क्षेत्र से कुल 192 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं व 185 अध्यापकों को कार्यशाला में बुलाया गया था। जिसमें से अधिकांश के पहुंचने पर वहां व्यवस्था से अधिक उपस्थिति हो गई, तो और कुर्सियां मंगाई गईं, जिससे करीब दो सौ लोगों के बैठने की व्यवस्था हो सकी। अनेक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व अध्यापक इधर उधर खड़े या बैठे रहे। खंड शिक्षा अधिकारी राजीव श्रीवास्तव, स्टेट रिसोर्स पर्सन यदुराज पाल, वंदना रानी, निधि गंगवार आदि ने अपने संबोधन में बाल शिक्षा पर शासन की योजनाओं की जानकारी दी। साथ ही खिलौना जैसे साधनों से नन्हें बच्चों को खेल खेल में पढ़ाने के टिप्स दिए। प्रभारी सीडीपीओ सीता तथा संगीता, संदीप, अश्वनी चतुर्वेदी, मुकेश राजपूत, उदय भान, अश्वनी यादव, सूरजपाल आदि मौजूद रहे। खेल-खेल में शिक्षा के टिप्स दिए

कमालगंज : पूर्व माध्यमिक विद्यालय कमालगंज परिसर में आयोजित स्कूल रेडीनेंस कार्यशाला में प्री प्राइमरी बच्चों को टीएलएम के माध्यम से एवं खेल खेल में शिक्षा के लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं प्राथमिक विद्यालयों के एक शिक्षक को प्रशिक्षण दिया गया। शिक्षिका सौम्या, खंड शिक्षा अधिकारी मुन्ना लाल त्रिवेदी व सीडीपीओ विमलेश चौधरी शंकुल शिक्षक मनोज शर्मा, अरविद कुमार, सचिन कुमार, हुकुम सिंह, रविद्र कुमार, जबर सिंह, अनुज कुमार, पराग त्रिपाठी आदि ने शिक्षा में गुणात्मक सुधार लाने के टिप्स दिए। एआरपी फूल सिंह, विश्राम सिंह, सुरजीत कुमार, प्रवीण कुमार व वीरेंद्र सिंह आदि रहे।