एल-टू अस्पताल के लिए बंद कर दी गई ओपीडी

एल-टू अस्पताल के लिए बंद कर दी गई ओपीडी

संवाद सहयोगी कायमगंज कोरोना संकट में कायमगंज सीएचसी के ओपीडी सहित कई विभागों को बंद

JagranFri, 23 Apr 2021 11:06 PM (IST)

संवाद सहयोगी, कायमगंज : कोरोना संकट में कायमगंज सीएचसी के ओपीडी सहित कई विभागों को बंद कर कोरोना इलाज का एल-टू अस्पताल बना दिया जाना सामान्य मरीजों के लिए परेशानी का सबब बन गया है। नगर के बीच भीड़ वाले क्षेत्र में स्थित सीएचसी को कोरोना संक्रमितों के लिए एल-टू अस्पताल बनाने का निर्णय लिया जाना सभी को परेशान कर रहा है।

कायमगंज सीएचसी के ओपीडी विभाग जहां दवा वितरण कक्ष, नेत्र चिकित्सा विभाग, दंत चिकित्सा विभाग, टीकाकरण, एंटी रेबीज वैक्सीन सहित अन्य सेवाएं उपलब्ध हैं। इस भवन को एल-टू अस्पताल बना देने से यह सभी सेवाएं बंद हो गई हैं। इससे मरीज परेशान रहे। काफी देर तक वह ओपीडी गेट के बाहर बैठे रहे, जब स्पष्ट हो गया कि अब इलाज नहीं मिलेगा तो लौट गए। यह सीएचसी कायमगंज नगर, ग्रामीण, कंपिल, नवाबगंज व शमसाबाद तक के मरीजों के अलावा सीमावर्ती जनपद एटा व कासगंज के मरीजों को भी सेवाएं उपलब्ध कराती है। जिससे यहां के ओपीडी मरीजों की संख्या जिला अस्पताल से भी अधिक हो जाती है। ऐसी सीएचसी की सामान्य ओपीडी सेवाओं के साथ अन्य सेवाएं बंद हो जाने से लोगों को परेशानी हो गई है। ओपीडी के पास ही इमरजेंसी वार्ड है, जो चलेगा, जिससे इमरजेंसी के मरीजों को भी संक्रमण का खतरा हो सकता है। कायमगंज सीएचसी नगर के बीचोबीच घनी आबादी के बीच है। जहां जेएम व सिविल कोर्ट, एसडीएम तहसीलदार कोर्ट व कार्यालय, एक कालेज, दो स्कूल, डाकघर, नगरपालिका कार्यालय आदि महत्वपूर्ण कार्यालय पचास मीटर की परिधि में हैं। जिससे इस स्थल पर भीड़ रहने से अक्सर जाम लगते हैं। मरीजों, उनके साथ आए तीमारदारों व यहां के कई चिकित्साकर्मियों ने अपना नाम न छापने की शर्त पर कहा कि इस व्यवस्था से तो संक्रमण का खतरा भी बढ़ेगा, साथ ही लोगों को सामान्य चिकित्सा सेवाएं भी बंद हो जाएंगी। सीएचसी के चिकित्साधीक्षक डॉ. अनुराग वर्मा ने कहा कि यह शासन व प्रशासन का निर्णय है, जिसके बारे में वह कुछ नहीं कह सकते। उन्हें तो आदेश का क्रियान्वयन कराना है। निरीक्षण को गए डीएम से मरीजों ने की एल-2 में गंदगी की शिकायत

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह ने सुबह 10 बजे कोविड-19 मरीजों के लिए फतेहगढ़ सीएचसी स्थित एल-2 अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान वहां भर्ती मरीजों ने डीएम से अस्पताल के शौचालयों व वार्ड में व्याप्त गंदगी की शिकायत की। सीएमओ ने बताया कि सफाई कर्मी ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं। डीएम ने अतिरिक्त मानदेय दिए जाने का सुझाव दिया। निरीक्षण के दौरान सीएमओ डॉ. वंदना सिंह ने डीएम को बताया कि वर्तमान में एल-2 अस्पताल में कुल 64 मरीज भर्ती हैं। जिनमें 25 महिला एवं 39 पुरूष हैं। सभी मरीजों को समय पर दवाई, भोजन व नाश्ता दिया जा रहा है। जिलाधिकारी ने एल-2 अस्पताल में भर्ती मरीज डॉ. सुधा से फोन पर बात कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। डॉ. सुधा ने बताया कि शौचालय बहुत गंदे हैं व सफाई कार्य नहीं हो रहा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि सफाई कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है, लेकिन वह ड्यूटी पर आ नहीं रहे हैं। डीएम ने ड्यूटी से अनुपस्थित सफाई कर्मचारियों को तत्काल बर्खास्त करने के निर्देश दिए। डीएम ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को तत्काल एल-2 अस्पताल में पांच सफाई कर्मचारी तैनात कर बेहतर सफाई कराने के निर्देश दिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी को एल-2 अस्पताल में सक्रिय आशा कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि एल-2 अस्पताल में कोविड ड्यूटी में लगाए जाने वाले नगर पालिका के सफाई कर्मचारी एवं आशाओं को अलग से भी अतिरिक्त मानदेय का भुगतान कराना भी सुनिश्चित किया जाए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.