फर्रुखाबाद में नर्सिंग होम नहीं दे रहे स्वास्थ्य विभाग को प्रसवों का डाटा

फर्रुखाबाद में नर्सिंग होम नहीं दे रहे स्वास्थ्य विभाग को प्रसवों का डाटा

जागरण संवाददाता फर्रुखाबाद जनपद में 131 नर्सिंग होम पंजीकृत हैं। अधिकांश चिकित्सालयों पर प

Publish Date:Thu, 07 Jan 2021 10:39 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, फर्रुखाबाद : जनपद में 131 नर्सिंग होम पंजीकृत हैं। अधिकांश चिकित्सालयों पर प्रसव किए जाते हैं। अभी तक कुछ नर्सिंग होम संचालकों ने प्रसव होने की सूचना स्वास्थ्य विभाग को उपलब्ध नहीं कराई है। जिस पर सीएमओ ने नाराजगी जताकर शीघ्र ही सूचना उपलब्ध कराने के आदेश दिए हैं।

सरकारी अस्पतालों की ओर से तो वहां होने वाले प्रसवों की सूचना मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय को उपलब्ध करा दी गई, लेकिन अधिकांश नर्सिंग होम संचालकों ने अभी तक प्रसव संबंधित डाटा उपलब्ध नहीं कराया है। सूचना उपलब्ध न कराने कराने के चलते जनपद की ओर से डाटा चिकित्सा एवं परिवार कल्याण को नहीं भेजा जा सका है। जनपद स्तर पर प्रसव संबंधित सूचनाओं को विभागीय पोर्टल पर अंकित की जाती है। वित्तीय वर्ष 2020-2021 में किसी भी ब्लाक के निजी चिकित्सालयों में होने वाले संस्थागत प्रसव की सूचना जनपद स्तर पर नहीं दी गई है। जिससे नर्सिंग होम में होने वाले संस्थागत प्रसव की सूचना पोर्टल पर अंकित नहीं हो पा रही है। जनपद में कई नर्सिंग होम संचालक प्रसव संबंधित सूचनाएं देने में खेल करते हैं। कहने के बावजूद वह लोग विस्तृत रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को नहीं सौंपते हैं।

सीएमओ डॉ. वंदना सिंह ने बताया कि नर्सिंग होम संचालकों को प्रसव संबंधित सूचना देने के आदेश दिए गए हैं। अपर शोध अधिकारी मातृ स्वास्थ्य हरिमोहन कटियार को सूचनाएं उपलब्ध कराने के लिए कहा गया है।

खाते से कटे रुपये वापस करने का झांसा देकर 19 हजार उड़ाए

संवाद सूत्र, नवाबगंज : खाते से कटे 950 रुपये वापस करने का झांसा देकर साइबर अपराधियों ने युवक के खाते से 19,239 रुपये पार कर दिए। युवक ने घटना की तहरीर पुलिस को दी।

थाना नवाबगंज के गांव गंगलऊ परमनगर निवासी गुरुदेव सिंह यादव के पुत्र अवनीश यादव का थाना शमसाबाद के गांव रजलामई स्थित बैंक ऑफ इंडिया में बचत खाता है। गुरुवार सुबह लगभग दस बजे अवनीश यादव ने नौकरी का फार्म ऑनलाइन करते समय खाते से फीस के 950 रुपये कटवाए थे। फार्म की फीस जमा न हो पाने पर अवनीश यादव ने फोन-पे कस्टमर केयर नंबर पर बातकर रुपये न पहुंचने की जानकारी दी। कुछ देर बाद अवनीश यादव के फोन पर काल आई। काल करने वाले ने खुद को फोन-पे का कस्टमर केयर कर्मी बताकर अवनीश के फोन पर रुपये वापस करने के लिए एक मैसेज भेजा। उस मैसेज में दिए हेल्पलाइन नंबर पर अवनीश ने जैसे ही क्लिक किया, उसके खाते से 19 हजार 239 रुपये निकल गए। खाते से रुपये कटने से परेशान अवनीश यादव ने घटना की पुलिस को तहरीर दी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.