माशिसं गुटों में बढ़ी उथल-पुथल

माशिसं गुटों में बढ़ी उथल-पुथल
Publish Date:Sat, 26 Sep 2020 10:28 PM (IST) Author: Jagran

अयोध्या: माध्यमिक शिक्षक संघ (शर्मा गुट) में बड़ी फूट सामने आई। संघ के नेता धर्मेंद्र सिंह की अगुवाई में सौ से अधिक शिक्षकों ने चेतनरायन गुट का दामन थाम लिया। चेतनरायन गुट की मंडल व जिला इकाइयां भंग भी कर दी गईं।

माशिसं चेतनरायन गुट के प्रदेश मंत्री व चुनाव में ताल ठोकने वाले नरेंद्र सिंह ने एक होटल में आदर्श इंटर कॉलेज के शारीरिक शिक्षक व नेता धर्मेंद्र सिह को जिला संयोजक बनाने का ऐलान किया। साथ ही मंडल व जिले की इकाई पर संगठन विरोधी गतिविधि में लिप्त होने का आरोप लगाते हुए भंग कर दिया। उन्होंने कहा कि अर्से से ये पदाधिकारी संगठन विरोधी गतिविधि में लगे थे, सूचना प्रदेश नेतृत्व को थी। वहीं से मिले निर्देश पर ही इकाई को भंग किया गया। उन्होंने धर्मेंद्र सिंह की अगुवाई में संगठन के मजबूत होने की उम्मीद जताई। नरेंद्र सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि तदर्थ शिक्षकों के सम्मान व हितों की रक्षा के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी जाएगी। सड़क से लेकर सदन तक संघर्ष होगा। नवनियुक्त जिला संयोजक धर्मेंद्र सिंह ने नेतृत्व के प्रति आभार जताया। शिक्षक हित की रक्षा को प्राथमिकता बताया। कहा कि शर्मा गुट के सौ से अधिक शिक्षकों ने चेतनरायन गुट में आस्था व्यक्त की।

इस मौके पर पवन यादव, राजेश सिंह, वरुण प्रताप सिंह, जयंत पाठक, विजेंद्र सिंह, दुर्गा श्रीवास्तव, परमजीत निषाद, परमेंद्र सिंह, रमेश सिंह, विभा चौधरी, पूनम सिंह, मुस्तरी खातून व सुशीला पांडेय मौजूद रहीं।

-----------

इकाइयों के भंग होने पर जताया आक्रोश

अयोध्या: जिला इकाई भंग होने पर पदाधिकारी भड़क गए। कार्यवाही को गैरवाजिब व गैरविधिक बताया। चेतनरायन गुट के मंडलीय अध्यक्ष चंदेश्वर पांडेय ने कहा कि इकाई विधिवत निर्वाचित कर गठित की गई थी, जिसे मात्र घोषणा से भंग नहीं किया जा सकता। उन्होंने संगठन के जिलाध्यक्ष व मंत्री को हटाए जाने की कार्यवाही को अनुचित बताया। साथ ही सारे आरोपों को निराधार बताया। उन्होंने ऐलान किया कि अध्यक्ष व मंत्री पूर्व की तरह कार्य करते रहेंगे। महाराजा इंटर कॉलेज में शिक्षकों ने बैठक कर इकाई को भंग किए जाने की निदा की गई। कहा कि चुनाव में संगठन के पक्ष में इन्हीं पदाधिकारियों के नेतृत्व में कार्य करते रहेंगे। इस मौके पर कई शिक्षक मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.