साकेत कॉलेज में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए दी जाएगी निश्शुल्क कोचिग

साकेत कॉलेज में प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए दी जाएगी निश्शुल्क कोचिग

पढ़ाया जाएगा क्लार्क से लेकर पीसीएस परीक्षा तक का कोर्स.परीक्षा के आधार पर इसमें होगा दाखिला 10 फरवरी से शुरू होगी पढ़ाई.

Publish Date:Fri, 22 Jan 2021 10:52 PM (IST) Author: Jagran

अयोध्या: साकेत महाविद्यालय में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को प्रतियोगी परीक्षा की निश्शुल्क कोचिग दी जाएगी। नए प्राचार्य डॉ.अभय कुमार सिंह की इस पहल से छात्रों में खुशी की लहर है। इस निर्णय के बाद शुक्रवार को इसके लिए गठित कमेटी की बैठक हुई। इस दौरान तय किया गया कि प्रतियोगी परीक्षा की क्लास में प्रवेश के लिए परीक्षा का आयोजन होगा। अविवि में इस तरह की पहल करने वाला साकेत पहला महाविद्यालय बन गया गया है। दस फरवरी से क्लास का संचालन होगा। इसका समन्वयक भूगोल विभाग के डॉ.अंजनी कुमार सिंह को बनाया गया है। इसके अतिरिक्त डॉ. अखिलेश सिंह, डॉ. योगेंद्र कुमार सिंह, डॉ. प्रभात कुमार श्रीवास्तव, व डॉ. जनमेजय तिवारी, डॉ. अंजू, डॉ. मुकेश कुमार पांडेय, डॉ. अरुण कुमार को सदस्य बनाया गया। समन्वयक डॉ. अंजनी सिंह ने बताया कि प्रतियोगी परीक्षा में प्रवेश के लिए 25 जनवरी से आवेदन फार्म मिलेगा और 30 जनवरी तक फार्म जमा होगा। प्रवेश परीक्षा तीन फरवरी को होगी। क्लास का संचालन दस फरवरी से होगा। इसके अंतर्गत दो कक्षाएं सामान्य अध्ययन के साथ अंग्रेजी व गणित की चलेंगी। स्नातक व परास्नातक कक्षाओं में अध्ययनरत विद्यार्थी प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। तकरीबन दो सौ विद्यार्थियों को निश्शुल्क परीक्षा की तैयारी कराने का लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि इसमें बीएड, बीटीसी, टीईटी लिपिक सहित पीसीएस परीक्षा का कोर्स कवर किया जाएगा।

कुलपति ने लिया नैक मूल्यांकन की तैयारी का जायजा

अयोध्या: डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रविशंकर सिंह ने परिसर का औचक निरीक्षण कर नैक मूल्यांकन की तैयारियां परखीं। मार्च माह के प्रथम सप्ताह में नैक टीम विभागों का मूल्यांकन करेगी। उन्होंने पहले कुलपति कार्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पत्रावलियों का निरीक्षण करते हुए समुचित रखरखाव का निर्देश दिया। कुलपति ने प्रशासनिक भवन के विभिन्न कार्यालयों का सघन निरीक्षण किया। लेखा विभाग में कुलपति ने वित्त अधिकारी धनंजय सिंह के साथ नैक टीम के सामने होने वाले प्रस्तुतिकरण पर चर्चा की। उन्होंने परीक्षा विभाग, कुलसचिव कार्यालय, गोपनीय विभाग का कामकाज देखा। डीएसडब्ल्यू व डीन ब्लॉक एवं मीडिया लैब का जायजा लिया। सभी से समय के भीतर कमियों को दूर करने को कहा। इस दौरान मुख्य नियंता प्रो.अजय प्रताप सिंह, कुलसचिव उमानाथ, प्रो. आरके सिंह, प्रो. फारुख जमाल, प्रो. नीलम पाठक, प्रो. शैलेंद्र कुमार वर्मा, उप कुलसचिव विनय कुमार सिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.