Ram Mandir Bhumi Pujan : बजरंगबली को माथा टेक PM मोदी ने मांगी रामकाज की अनुमति

Ram Mandir Bhumi Pujan : बजरंगबली को माथा टेक PM मोदी ने मांगी रामकाज की अनुमति

Ram Mandir Bhumi Pujan गद्दीनशीन महंत प्रेमदास ने सुनहरा चांदी का मुकुट व रामनामी पट्टिका। भेंट कर किया पीएम का स्वागत।

Divyansh RastogiWed, 05 Aug 2020 03:08 PM (IST)

अयोध्या, जेएनएन। Ram Mandir Bhumi Pujan : राममंदिर भूमिपूजन के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को निर्धारित समय पर अयोध्या पहुंचे। वे भूमिपूजन से पहले हनुमानगढ़ी में पहुंचे और अयोध्या के कोतवाल कहे जाने वाले हनुमानजी को माथा टेक कर रामकाज की अनुमति मांगी। यहां गद्दीनशीन महंत प्रेमदास ने प्रधानमंत्री को सुनहरा चांदी का मुकुट पहनाकर व रामनामी पट्टिका भेंटकर स्वागत किया। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के भूमि पूजन के लिए साकेत महाविद्यालय में बने हेलीपैड पर 11 बजकर 30 मिनट पर प्रधानमंत्री का हेलिकॉप्टर लैंड हुआ, जहां पर मौजूद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुआई में स्वागत किया गया। अतिथियों ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए बनाए गए शारीरिक दूरी के लिए गोले में खड़े होकर स्वागत किया।

प्रधानमंत्री ने हेलिकॉप्टर से बाहर निकलते ही मास्क पहनकर कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सजग रहने का संदेश दिया। इसके बाद काफिला हनुमानगढ़ी के लिए निकला तो जय श्रीराम के उद्घोष गूंजने लगा। अपने निर्धारित समय 11 बजकर 40 मिनट पर प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ हनुमानगढ़ी पहुंचे। वे पीछे के रास्ते से हनुमानजी के दरबार में हाजिर हुए। सबसे पहले मंदिर परिसर में हाथ धुलने के बाद बजरंगली का दर्शन कर मत्था टेका। इसके बाद बजंगबली की आरती उतारी। परिक्रमा करने के बाद उनका गद्दीनशीन महंत ने सम्मानित किया। इसके बाद वे हनुमानगढ़ी की 76 सीढ़ियां तय कर बाहर आए। उन्होंने वापस होते समय मंदिर में मौजूद साधु-संतों को हाथ जोड़कर प्रणाम किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.