ओमिक्रोन को लेकर बढ़ी सतर्कता, विदेश से आए 26 लोग क्वारंटाइन

विदेश से आने वालों पर रखी जा रही ²ष्टि पूर्व में आए 20 लोग जांच में पाए गए नेगेटिव

JagranPublish:Sat, 04 Dec 2021 12:04 AM (IST) Updated:Sat, 04 Dec 2021 12:04 AM (IST)
ओमिक्रोन को लेकर बढ़ी सतर्कता, विदेश से आए 26 लोग क्वारंटाइन
ओमिक्रोन को लेकर बढ़ी सतर्कता, विदेश से आए 26 लोग क्वारंटाइन

अयोध्या: कोरोना के ओमिक्रोन वैरिएंट को लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। 30 नवंबर को स्वदेश आए 26 अयोध्यावासियों को सात दिन के लिए होम क्वारंटाइन कर दिया गया है। इन लोगों की क्वारंटाइन अवधि पूरी होने के बाद आरटीपीसीआर टेस्ट भी कराया जाएगा। इनमें 23 लोग खाड़ी देशों से आए हैं, जबकि एक इथोपिया व दो अमेरिका से लौटे हैं। सभी की देखरेख आरंभ कर दी गई है। विदेश से पूर्व में आए 20 लोगों की क्वारंटाइन अवधि पूरी हो गई है। इनमें किसी को भी जांच में कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया। नगरीय क्षेत्र में कोरोना संक्रमितों की तलाश के लिए फोकस सेंपलिग भी की जा रही है।

ओमिक्रोन को लेकर जिला प्रशासन ने विकास भवन में कोरोना कंट्रोल रूम बनाया है। इसमें अधिकारियों व कर्मचारियों की चक्रानुक्रम में 24 घंटे ड्यूटी लगाई गई है। इसकी मानीटरिग स्वयं सीडीओ अनिता यादव कर रही हैं। बाहर से आने वालों पर विशेष रूप से ²ष्टि रखी जा रही है। स्वास्थ्य विभाग अब वैक्सीनेशन पर भी विशेष रूप से ध्यान दे रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें गांवों में जाकर लोगों को वैक्सीनेशन के प्रति जागरूक कर रहीं हैं। फोकस सेंपलिग शुरू, उत्तरदायी अधिकारी अनभिज्ञ अयोध्या : ओमिक्रोन को लेकर जिले में फोकस सेंपलिग आरंभ कर दी गई है। मुख्य विकास अधिकारी अनिता यादव ने दस दिन तक अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं। दो व तीन दिसंबर को साकेत महाविद्यालय, अवध विश्वविद्यालय, अवध इंटरनेशनल स्कूल, आईटीआई, पालीटेक्निक, कोचिग केंद्र, स्कूल, कालेज, इंजीनियरिग कालेज आदि में विद्यार्थियों आदि की सेंपलिग की गई। इसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक व बेसिक शिक्षा अधिकारी को दायित्व दिया गया था। हास्यास्पद बात यह है कि सेंपलिग का कार्य पूरा भी गया, लेकिन डीआइओएस व बीएसए को इसकी जानकारी ही नहीं दी गई। दोनों अधिकारियों ने सेंपलिग से अनभिज्ञता जताई।

शासन ने तीन दिन अभियान चलाने का निर्देश दिया है। शेष दिवसों में स्थानीय प्रशासन की ओर से अभियान चलेगा। इसमें स्वास्थ्य विभाग की टीमों को दायित्व सौंप दिया गया है।

डा. अजय राजा

मुख्य चिकित्साधिकारी