ओमिक्रोन से सतर्क पालिका ने कराया सैनिटाइजेशन

जागरण संवाददाता इटावा जिलाधिकारी श्रुति सिंह के निर्देश पर नगर पालिका परिषद के ईओ द्वार

JagranPublish:Wed, 08 Dec 2021 06:31 PM (IST) Updated:Wed, 08 Dec 2021 07:15 PM (IST)
ओमिक्रोन से सतर्क पालिका ने कराया सैनिटाइजेशन
ओमिक्रोन से सतर्क पालिका ने कराया सैनिटाइजेशन

जागरण संवाददाता, इटावा : जिलाधिकारी श्रुति सिंह के निर्देश पर नगर पालिका परिषद के ईओ द्वारा कोरोना की संभावित तीसरी लहर ओमिक्रोन को लेकर शहरी क्षेत्र में विशेष सफाई अभियान के साथ सैनिटाइजेशन कार्य किया गया। इस सतर्कता अभियान के तहत नाला एवं सड़क के किनारे उगी घास आदि की सफाई कराई गई। नगर पालिका परिषद की चेयरमैन नौशाबा फुरकान एवं ईओ विनय कुमार मणि त्रिपाठी द्वारा कोरोना की संभावित तीसरी लहर ओमिक्रोन को लेकर शहर में सैनिटाइजेशन के लिए रोस्टर तैयार किया गया। इस रोस्टर के अंतर्गत शहर में सफाई अभियान एवं सैनिटाइजेशन का कार्य किया जाएगा। बुधवार को सफाई निरीक्षक आनंद कुमार के नेतृत्व में शिवा कालोनी में अभियान की शुरुआत की गई। जिसके अंतर्गत मुख्य मार्ग पर नाला की सफाई के साथ-साथ सड़क के किनारे उगी घास आदि को साफ किया गया। इसके साथ ही सैनिटाइजेशन सफाई नायक मुस्तेहसन एवं शैलेन्द्र की टीम के द्वारा किया गया। सफाई एवं सैनिटाइजेशन के कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे नपा ईओ विनय कुमार मणि त्रिपाठी ने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर यह अभियान चलाया जा रहा है। यह अभियान एक साथ पूरे शहर में चलाया गया। शहर के मोहल्ला साबितगंज, शिवा कालोनी, लाइन पार क्षेत्र के लक्ष्मण कालोनी आदि में चल रहा है। उन्होंने लोगों से अपने घर के आस पास सफाई रखने के साथ जागरुकता लाने के लिए कहा जिससे संभावित कोरोना की तीसरी लहर को रोका जा सके।

----------

वैक्सीनेशन में प्रदेश में पांचवें स्थान पर पहुंचा जनपद

जागरण संवाददाता, इटावा : कोरोना टीकाकरण में बुधवार को जनपद पांचवें स्थान पर पहुंच गया। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी श्रीनिवास यादव ने बताया कि जनपद में अब तक 86.5 प्रतिशत टीकाकरण अब तक किया जा चुका है। अब जनपद से आगे लखनऊ, शाहजहांपुर, गाजियाबाद, नोएडा व एक अन्य जनपद ही बचे हैं। जनपद में अब तक पहली डोज 10 लाख 21 हजार 175 लगाई जा चुकी है। अधिक से अधिक लोगों को लगाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

जिलाधिकारी के प्रयास के बाद जिला अस्पताल से 20 और कर्मचारियों को वैक्सीनेशन अभियान में लगाए जाने की अनुमति दी गई है। इन सभी को जिन ब्लाकों में वैक्सीनेशन कम हो रहा है वहां पर लगाया गया है।