भर्ती को भटक रहे मरीज ने कृषि मंत्री से की शिकायत

भर्ती को भटक रहे मरीज ने कृषि मंत्री से की शिकायत

संवाद सहयोगी सैफई प्रदेश के कृषि मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही के साम

JagranSun, 09 May 2021 10:18 PM (IST)

संवाद सहयोगी, सैफई : प्रदेश के कृषि मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही के सामने रविवार को उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय की बदइंतजामी उस समय खुलकर सामने आ गई जब भर्ती को भटक रहे मरीजों ने उनसे शिकायत की। इस पर प्रभारी मंत्री ने डॉक्टरों को लताड़ लगाई और कोरोना संक्रमित मरीज को भर्ती कराया।

सूर्य प्रताप शाही अचानक निरीक्षण करने के लिए पहुंचे थे। मेडिकल यूनिवर्सिटी में दो साल से बंद पड़े ऑक्सीजन गैस प्लांट की एक यूनिट को सेना की इंजीनियरिग कोर की टीम द्वारा ठीक किए जाने के बाद जिले के प्रभारी मंत्री ने सैफई पहुंचकर ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण करके सेना की इंजीनियरिग कोर के अफसरों की टीम को बधाई दी। इस प्लांट के ठीक होने के बाद कम से कम यहां सैकड़ों की संख्या में मरीजों को ऑक्सीजन की आपूर्ति हो सकेगी। यहां पर अब एक मिनट में 450 लीटर ऑक्सीजन का उत्पादन होने लगा है। उन्होंने मरीजों को हर हाल में भर्ती करने के निर्देश दिए। कोविड अस्पताल के बारे में विस्तार से प्रतिकुलपति डॉ. रमाकांत यादव, चिकित्साधीक्षक डॉ. आदेश कुमार से जानकारी ली।

पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि हमने पिछले दिनों जिला प्रशासन और प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर जिले की समस्याओं पर विचार किया था। उस दिन ऑक्सीजन प्लांट के बारे में जानकारी ली गई थी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर सेना के जवानों को प्लांट ठीक करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। मुझे खुशी है दो हफ्ते के अंदर ऑक्सीजन प्लांट की एक यूनिट चालू हो गई है। उम्मीद है जल्द ही दूसरी यूनिट भी चालू हो जाएगी। उन्होंने बताया शासन स्तर से विश्वविद्यालय के लिए एक बड़ा प्लांट स्वीकृत करा दिया गया है। जिसका कार्य जल्दी शुरू हो जाएगा।

इस अवसर पर जिलाधिकारी श्रुति सिंह, एसडीएम हेम सिंह, क्षेत्राधिकारी राकेश वशिष्ठ, कुल सचिव सुरेश चंद्र शर्मा, थाना प्रभारी वीरेंद्र बहादुर यादव, नायब तहसीलदार सूरज प्रताप सिंह आदि मौजूद रहे।

कोविड टेस्टिंग को लेकर दी जानकारी

प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि कोविड महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए हर स्तर पर व्यापक तैयारी के साथ पूरी सावधानी रखने की आवश्यकता है। उन्होंने विश्वविद्यालय के कोविड टेस्टिंग के संबंध में चिकित्सकों से बात की तथा कहा कि विश्वविद्यालय पूरी क्षमता से कोविड टेस्टिंग कर रहा है। उन्होंने कोविड मरीजों के लिए जरूरी ऑक्सीजन, जीवन रक्षक औषधियां तथा जरूरी उपकरणों पर भी संतोष व्यक्त किया।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.