कच्चा घर गिरने से एक ही परिवार के चार लोग घायल

संवाद सूत्र बरालोकपुर विकास खंड बसरेहर के ग्राम पंचायत बीना में शनिवार की सुबह हुई ब

JagranSat, 25 Sep 2021 09:54 PM (IST)
कच्चा घर गिरने से एक ही परिवार के चार लोग घायल

संवाद सूत्र, बरालोकपुर : विकास खंड बसरेहर के ग्राम पंचायत बीना में शनिवार की सुबह हुई बारिश के बाद किसान का कच्चा मकान गिर गया। सुबह का समय होने के कारण परिवार मकान के अंदर सो रहा था। परिवार के चार लोग दब गए जिसमें एक की हालत नाजुक होने पर उसे उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई भेजा गया जबकि तीन को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सुबह हो रही बारिश के बाद रमेश चंद सक्सेना का कच्चा मकान गिरने से वे उनकी पत्नी चंद्रवती देवी व दो नाती विशाल कुमार व शनि मलवे में दब गए। घर गृहस्थी का सारा सामान भी दब गया। आसपास रहने वाले ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर चारों लोगों को बाहर निकाला। रमेश चंद सक्सेना की हालत गंभीर होने पर उन्हें उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई भेजा गया है। जबकि उनकी पत्नी व दोनों नातियों को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। ग्राम पंचायत के प्रधान पति रामू शंखवार ने मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी लेखपाल को दी।

-------------

कच्ची दीवार गिरने से वृद्धा की मौत

संवाद सहयोगी, सैफई : थाना क्षेत्र के ग्राम मुचहरा में 70 वर्षीय वृद्ध महिला की कच्ची दीवार गिरने से दबकर मौत हो गई। ग्राम निवासी केतकी देवी उम्र 70 वर्ष कच्ची दीवार पर छप्पर डालकर रह रही थीं। शनिवार सुबह तेज बारिश होने से मिट्टी की दीवार ढह गई जिससे वह उसी में दब गईं। उनके पुत्र ने शोर मचाया तो ग्रामीण मौके पर पहुंचे और मलबे को हटाया। जब तक उन्हें बाहर निकाला गया तब तक उनकी मौत हो गई। सूचना मिलने पर पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारी मौके पर पहुंचे। एसडीएम एन राम, तहसीलदार प्रभात राय, लेखपाल भारत सिंह ने निरीक्षण किया।

----------

आपदा से घर गिरने की सूचना ही पर्याप्त

जागरण संवाददाता, इटावा : दैवीय आपदा के तहत घर या उसका हिस्सा गिरने से सरकार द्वारा मुआवजा पाने के लिए शहर हो या देहात सभी को संबंधित तहसीलदार या लेखपाल को सूचना देना ही पर्याप्त है। इसके पश्चात लेखपाल स्थलीय निरीक्षण करके गाइड लाइन के मुताबिक नुकसान के आकलन की रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे उसके अनुरूप मुआवजा राशि पीड़ित के बैंक खाता में प्रेषित की जाएगी।

दैवीय आपदा प्रबंधन कार्यालय के वरिष्ठ लिपिक राजेंद्र कुमार शाक्य ने उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश सरकार ने दैवीय आपदा के तहत नुकसान होने पर मात्र सूचना के आधार पर ही संबंधित क्षेत्र के तहसीलदार और लेखपाल को कार्रवाई करने के आदेश जारी कर रखे हैं, इसका अपर जिलाधिकारी द्वारा पूर्णरूपेण पालन कराया जा रहा है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.