top menutop menutop menu

निमोनिया पीड़ित कोरोना संक्रमित की सैफई में मौत

जागरण संवाददाता, इटावा : निमोनिया से पीड़ित 45 वर्षीय व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया जिसके बाद हालत बिगड़ने पर रविवार की रात्रि उसकी उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय सैफई में मौत हो गई। शहर के रामगंज इलाके में रहने वाला यह व्यक्ति 23 मई को दोपहर में निमोनिया की बीमारी के चलते सैफई में भर्ती कराया गया था। इसके अलावा सोमवार को दो और कोरोना संक्रमित पाये गये। अब जनपद में कुल कोरोना संक्रमित की संख्या 39 हो गई है जिसमें 37 एक्टिव केस हैं। रामगंज में रहने वाला व्यक्ति पिछले कई दिनों से बीमार चल रहा था। निमोनिया के चलते वह 23 मई को सैफई इमरजेंसी में पहुंचा था। जहां पर शक होने पर डॉक्टरों ने कोरोना का टेस्ट किया लेकिन रिपोर्ट आने से पहले रविवार की रात्रि को ही उसकी मौत हो गई जबकि कोरोना की रिपोर्ट सोमवार की सुबह आई। चिकित्सा विश्वविद्यालय के अपर चिकित्सा अधीक्षक डा. एसपी सिंह ने जिला प्रशासन को मामले की जानकारी दी। उसके बाद सीएमओ डा. एनएस तोमर ने एंबुलेंस सैफई भेजी और उसके शव को दफीना के लिए तकिया कब्रिस्तान सीधे ले जाया गया। इस व्यक्ति के तीन और भाई हैं और पत्नी और दो बेटे भी हैं। यह मीट बेचने का काम करता था। इसको संक्रमण कैसे हुआ यह अभी तक पता नहीं चल सका है। कड़ी सुरक्षा में हुआ दफीना तकिया कब्रिस्तान में दोपहर में शव पहुंचने पर कड़ी सुरक्षा में शव को दफनाया गया। परिवार के केवल दो लोगों को वहां पर जाने की इजाजत दी गई थी। कब्रिस्तान के आसपास के इलाके को पहले खाली कराया गया और नगर पालिका की टीम ने पूरे इलाके को सैनिटाइज किया। उपजिलाधिकारी सदर सिद्धार्थ, सीओ सिटी एसएन वैभव पांडेय, सीओ सैफई चंद्रपाल, पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष फुरकान अहमद, अधिशासी अधिकारी अनिल कुमार, कोतवाली प्रभारी रमेश सिंह भी मौजूद थे। रामगंज इलाके को सील किया गया उपजिलाधिकारी सदर सिद्धार्थ ने बताया कि रामगंज इलाके को सील कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अब कुल हॉटस्पॉट 11 हो गये हैं इनमें रामगंज व बराही टोला भी शामिल हैं। इसी इलाके के पास साबितगंज, कबीरगंज व मुफ्तीटोला पड़ते हैं जो पहले से ही सील चल रहे हैं। अधिकारियों ने यहां का निरीक्षण किया और स्थानीय लोगों को घरों में ही रहने को कहा। बराही टोला व खरदूली में संक्रमित निकले शहर के बराही टोला में 16 वर्षीय युवती के संक्रमित होने की रिपोर्ट आई है। यह युवती अहमदाबाद से कुछ दिन पूर्व अपने मौसा-मौसी, अपनी बहन व मौसा-मौसी के दो बच्चों के साथ वापस लौटी थी। यह लोग होम क्वारंटाइन भी कर रहे थे। युवती के पिता लाइन पार इलाके में रहते हैं जो कचहरी में प्राइवेट काम करते हैं। वहीं सैफई तहसील के खरदूली गांव में भी 35 वर्षीय महिला संक्रमित पाई गई है। यह महिला भी कुछ दिन पूर्व दिल्ली से लौटी थी। इन दोनों के 22 मई को सैंपल लिये गये थे। एसडीएम सदर ने बताया कि परिवार के अन्य सदस्यों के भी सैंपल लिए गए हैं। इन संक्रमितों को गजनेर-कानपुर देहात के कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 50 नमूने जांच के लिए भेजे गये सोमवार को डा. बीआर आंबेडकर संयुक्त चिकित्सालय से 50 संदिग्धों के नमूने जांच के लिए उप्र आयुर्विज्ञान विश्व विद्यालय सैफई भेजे गये हैं। मुख्य चिकित्साधीक्षक डा. एसएस भदौरिया एवं कोरोना प्रभारी डा. पीके गुप्ता ने बताया कि सोमवार को 115 संदिग्धों की जांच रिपोर्ट मिली है इनमें 95 निगेटिव आये जबकि 18 की रिपोर्ट स्पष्ट न होने के कारण रिजेक्ट हो गई है तथा दो पॉजिटिव पाए गए हैं।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.