772 करोड़ से इटावा-फतेहगढ़ तक हाईवे का होगा चौड़ीकरण

772 करोड़ से इटावा-फतेहगढ़ तक हाईवे का होगा चौड़ीकरण

हेम कुमार शर्मा इटावा ग्वालियर-बरेली हाईवे 91 पर विश्व बैंक ने 772.

Publish Date:Mon, 30 Nov 2020 10:07 PM (IST) Author: Jagran

हेम कुमार शर्मा, इटावा

ग्वालियर-बरेली हाईवे 91 पर विश्व बैंक ने 772.80 करोड़ रुपये से इटावा एनएच-2 से फतेहगढ़ तक सड़क चौड़ीकरण, बाईपास तथा अन्य कार्यों के लिए स्वीकृत कर दिए हैं। चौड़ीकरण का कार्य विश्व बैंक से जुड़ी पीआईयू यानी परियोजना कार्यान्वयन इकाई को सौंपा गया है जिसने फतेहगढ़ के पास कार्यालय स्थापित करके निविदा प्रक्रिया शुरू कर दी है। दो फैज में कार्य जल्द शुरू कराया जाएगा। चौड़ीकरण होने से जनपद की दक्षिणी से उत्तरी सीमा तक आवागमन सुविधाजनक हो जाएगा।

यह हाईवे देश की दक्षिणी सीमा पर स्थित चेन्नई, महाराष्ट्र को उत्तरी सीमा पर नेपाल और चीन से जोड़ता है। ग्वालियर से इटावा, फतेहगढ़-फर्रुखाबाद, कटरा बरेली के पास यह हाईवे दिल्ली-लखनऊ फोरलेन से जुड़ जाता है। वहां से कई मार्ग जुड़ते हैं, इससे करीब 20 से 25 हजार भारी वाहन इस हाईवे पर रोजाना दौड़ रहे हैं। चंबल नदी पुल से फर्रुखाबाद जनपद की सीमा रामगंगा नदी पुल तक इस मार्ग की हालत ज्यादा खराब है। इतनी दूरी में यह हाईवे राष्ट्रीय राजमार्ग खंड के हवाले है जिसका मुख्यालय यहां पर स्थापित है। हाईवे के चौड़ीकरण के लिए प्रस्ताव करीब तीन साल पूर्व प्रेषित किए गए थे। जिस पर अब विश्व बैंक ने पीआईयू से निर्माण कार्य कराने की स्वीकृति प्रदान कर दी है।

किस प्रकार होगा निर्माण कार्य

निर्माण इकाई ने दो फेज में निर्माण कार्य पूर्ण करने की योजना बनाई है। इसके तहत इस हाईवे पर अब सात की बजाए दस मीटर चौड़ी सड़क होगी। दोनों ओर दो-दो मीटर की कच्ची पटरी होगी। आबादी क्षेत्र में कच्ची पटरी के साथ डेढ़ से दो मीटर चौड़ी नाली का भी निर्माण कराया जाएगा। पहले फेज में बेवर से कर्री पुलिया तक 30 किमी के लिए 236 करोड़ 47 लाख रुपये इसी के साथ बेबर से फतेहगढ़ तक 52.730 किमी की दूरी के लिए 325 करोड़ 24 लाख रुपये जबकि दूसरे फेज में कर्री पुलिया से शहर में नई मंडी के पास आगरा-कानपुर हाईवे एनएच -2 फ्लाईओवर तक 57.346 किमी के लिए 211 करोड़ 9 लाख रुपये व्यय के लिए निर्धारित किए गए हैं।

12 से 15 मीटर चौड़े होंगे पुल-पुलिया

हाईवे पर अभी अधिकतर अंग्रेजी जमाने के करीब डेढ़ सदी पूर्व के नदियों, नहरो और माइनरों तथा बरसाती पानी के निकासी के नाला पुल और पुलिया बनी हुई हैं, जिनकी चौड़ाई चार से पांच मीटर है जिससे आए दिन जाम लगता है। इस निर्माण कार्य में अब यह सभी 12 से 15 मीटर चौड़ाई के फोरलेन समान बनाए जाएंगे। इससे जाम की समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा।

गजट होने पर शहर का बाईपास जुड़ेगा

अभी यह हाईवे शहर में श्रीगुरुतेग बहादुर सिंह ओवरब्रिज, एसएसपी चौराहा होते हुए लुहन्ना से यमुना नदी पुल होकर ग्वालियर की ओर जाता है। निकट भविष्य में शहर में मानिकपुर मोड़ से सुनवारा यमुना नदी के पास बनाए गए फोरलेन बाईपास का गजट होने पर यह बाईपास इसी हाईवे में समाहित हो जाएगा तथा भरथना चौराहा से सुनवारा तक का मार्ग लोनिवि के प्रांतीय खंड के हवाले किया जाएगा।

आवागमन पर देना होगा टोल टैक्स

हाईवे का चौड़ीकरण होने के साथ ही लोहिया नहर पुल तथा चौबिया के मध्य किसी भी स्थान पर टोल प्लाजा बनाया जाएगा। यहां हल्के-भारी वाहनों से आवागमन करने वालों को निर्धारित टोल टैक्स चुकाना पड़ेगा। ग्वालियर-बरेली हाईवे पर शहर में नई मंडी के पास एनएच-2 फ्लाईओवर पुल से फतेहगढ़ तक चौड़ीकरण का निर्माण कार्य विश्व बैंक ने स्वीकृत कर दिया है। पीआईयू इसका निर्माण कार्य जल्द शुरू कराएगी। निविदा प्रक्रिया शुरू हो गई है, जिससे जल्द ही निर्माण कार्य शुरू होगा।

सुभाष चंद्र शर्मा

सहायक अभियंता, राष्ट्रीय राजमार्ग खंड

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.