जलेसर सीएचसी पर सवा लाख की आबादी पर सिर्फ 10 बेड

तीन डाक्टर तैनात हैं कोरोना संक्रमण काल में दिन-रात ड्यूटी देकर फर्ज निभा रहे स्वास्थ्यकर्मी

JagranTue, 25 May 2021 06:13 AM (IST)
जलेसर सीएचसी पर सवा लाख की आबादी पर सिर्फ 10 बेड

संसू, जलेसर (एटा): सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से क्षेत्र की सवा लाख की आबादी जुड़ी हुई है, लेकिन यहां सिर्फ तीन डाक्टर ही तैनात हैं। सिर्फ 10 बेड से ही काम चलाना पड़ रहा है। संक्रमित हुए 727 मरीजों की देखभाल का जिम्मा जलेसर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर है, लेकिन व्यवस्था नाकाफी हैं।

पड़ताल के दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर व्यवस्था सफाई व्यवस्था ठीक दिखाई दी, लेकिन स्वास्थ्य कर्मचारियों की संख्या बहुत कम थी। कुछ कर्मचारी कोरोना की जांच कर रहे थे तो कहीं वैक्सीनेशन का काम चल रहा था। यहां पर वैक्सीनेशन के लिए सात सेंटर बनाए गए हैं। लोग टीकाकरण के लिए आ रहे हैं। जनरल ओपीडी पूरी तरह से बंद है। इमरजेंसी सेवाओं के लिए प्रत्येक चिकित्सक आठ घंटे की ड्यूटी दे रहे हैं। विकासखंड क्षेत्र के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा पांच टीमें तैयार की गई हैं। इस केंद्र पर रविवार को भी कोरोना की जांच मात्र चार घंटे की जाती है। 16 स्वास्थ्यकर्मी हो चुके हें पाजिटिव:

दूसरी लहर के चलते अब तक 16 स्वास्थ्यकर्मी एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डॉ. पवन शर्मा कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं और स्वास्थ्य लाभ लेकर पुन:सेवा में जुटे हुए हैं। इमरजेंसी सेवाओं के तहत दबाएं नित्य प्रतिदिन वितरित की जा रही हैं। दवाओं का भरपूर स्टाक:

स्वास्थ्य केंद्र पर दवाओं का स्टाक है। नगर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में विकासखंड पर तैनात 57 नगर क्षेत्र में 25 निगरानी समितियों के लिए 820 कोरोना किट सौंप दी गई हैं। वर्तमान में स्वास्थ्य केंद्र पर पर्याप्त दवा उपलब्ध है। 30 में से 10 बेड बचे:

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर मौजूद 30 बेड में से 20 बेड कोविड हॉस्पिटल चुरथरा भेज दिए गए हैं। मात्र 10 बेड प्रसव एवं इमरजेंसी सेवा के लिए स्वास्थ्य केंद्र पर मौजूद हैं। वहीं दूसरी ओर सात चिकित्सकों में से तीन चिकित्सकों को कोविड-19 हॉस्पिटल चुरथरा में तैनात किया गया है सात वैक्सीनेशन सेंटर:

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जलेसर के अंतर्गत 45 वर्ष से ऊपर के नागरिकों को वैक्सीन लगाए जाने के लिए सात सेंटर हैं। इसमें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जलेसर, सकरौली, मानगई, जमो, साता नवीपुर, सराय, पटना बनाए गए हैं। चिकित्सकों एवं फार्मेसिस्ट की टीमें तैयार की गई हैं। टीमों के द्वारा कोरोना पीड़ित के आसपास के 20 घरों को चेकिग की जाती है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र के अंतर्गत अब तक कुल 727 व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले हैं। मौजूदा समय में कुल 136 कोरोना पॉजिटिव मरीज आइसोलेशन में हैं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा तैनात पांच टीमें व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर चल रही वैक्सीनेशन सुविधा के अंतर्गत प्रत्येक दिन 200 से लेकर ढाई सौ तक लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही हैं। 136 मरीज होमआइसोलेशन में:

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी के अनुसार तहसील मुख्यालय पर बने ऑक्सीजन उपलब्ध कराए जाने वाले सेंटर को नौ सिलेंडर जंबो उपलब्ध कराए गए हैं। जरूरत पड़ने पर चिकित्सकों के पर्चे पर नोडल अधिकारी तहसीलदार जलेसर द्वारा उपलब्ध कराए जाते हैं। 136 होम आइसोलेशन के मरीज हैं, जिन पर स्वास्थ्य केंद्र द्वारा तैनात पांच टीमें नजर रख रही हैं। प्रत्येक दिवस उनके घर पर दस्तक दी जाती है। ग्रामीण सहयोग करें:

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र प्रभारी डा.पवन शर्मा ने बताया कि तमाम अवरोधों के बावजूद एवं ग्रामीणों के असहयोग के चलते वैक्सीन लगाए जाने का कार्य धीमी गति से चल रहा है। यदि ग्रामीण इस कार्य में सहयोग करें तो कोरोना की तीसरी लहर आने से पहले ही हम अपने क्षेत्र के सभी 45 वर्ष से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगा सकते हैं। वहीं दूसरी ओर उन्होंने ब्लैक फंगस के संबंध में बताया कि मौजूदा समय में एक भी रोगी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र क्षेत्र के अंतर्गत नहीं है। अपने घरों एवं निवास स्थान के आसपास गंदगी न होने दें। फ्रिज की सफाई नियमित रूप से करें तथा बासी भोजन न खाएं एवं मास्क गीला या ढीला होने पर उसे तत्काल बदल दें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.