अव्यवस्थाओं के बीच पांच अस्पतालों में हुआ ड्राई रन

अव्यवस्थाओं के बीच पांच अस्पतालों में हुआ ड्राई रन

चिह्नित 250 में से 246 लोगों पर हुआ माक ड्रिल पहले चरण के टीकाकरण के लिए परखीं तैयारियां

JagranWed, 06 Jan 2021 06:22 AM (IST)

एटा: कोरोना टीकाकरण की तैयारियां परखने के लिए मंगलवार को जिला अस्पताल, जिला महिला अस्पताल, सीएचसी निधौली कलां, पीएचसी बागवाला और सकीट में ड्राई रन कराया गया। हर अस्पताल में दो स्थानों पर टीकाकरण का पूर्वाभ्यास हुआ। कुल 250 लोगों को माकड्रिल के लिए बुलाया गया था, जिसमें से चार लोग नहीं पहुंच सके। इस बीच कुछ कमियां और अव्यवस्थाएं भी देखने को मिलीं। लाभार्थियों के सत्यापन और विवरण दर्ज करने के लिए बनाए गए कोविन मोबाइल एप में लागिन और सुस्त रफ्तार के चलते एंट्री दर्ज करने में समस्या हुई। कर्मचारियों के पूरी तरह प्रशिक्षित न होने की स्थिति में शुरुआती एक घंटे में अफरा-तफरी जैसा माहौल रहा। बाद में अधिकारियों के दिशा-निर्देश पर स्थिति सामान्य हुई।

डीएम सुखलाल भारती और एसएसपी सुनील कुमार सिंह ने जिला अस्पताल व जिला महिला अस्पताल में बनाए गए टीकाकरण स्थलों पर पहुंचकर उद्घाटन और निरीक्षण किया। सीएमओ डा. अरविद कुमार और जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. राम सिंह ने पांचों अस्पतालों में पहुंचकर व्यवस्थाएं परखीं। सामान्य मरीज भी पहुंच गए टीका लगवाने!

पहले चरण में चिन्हित लोगों के लिए यह ड्राई रन था, लेकिन तमाम लोगों को जानकारी नहीं थी। अस्पताल में इलाज के लिए पहुंचे कई मरीज कोरोना वैक्सीनेशन का बूथ देखकर टीका लगवाने पहुंच गए। जिन्हें कर्मचारियों द्वारा समझाकर वापस किया गया। एंट्री दर्ज करा लौटे:

माक ड्रिल के दौरान तमाम अव्यवस्थाएं रहीं। प्रवेश द्वार पर अपना नाम दर्ज कराकर कई चिन्हित स्वास्थ्यकर्मी वापस चले गए या वैक्सीन कक्ष तक नहीं पहुंचे। जो लोग अंदर मौजूद थे, उन्हें ढूंढकर वैक्सीन रूम पहुंचाया गया। जबकि जो लोग चले गए थे, उन्हें फोन कर बुलाना पड़ा। मोबाइल पर बात करते रहे पुलिसकर्मी:

वैक्सीन की सुरक्षा पर बहुत ज्यादा जोर दिया जा रहा है, लेकिन ड्राई रन में जो माहौल था, उससे लग नहीं रहा था कि इसके प्रति गंभीरता बरती जा रही है। हर टीकाकरण स्थल पर दो पुलिसकर्मियों की ड्यूटी लगाई गई थी। जो ज्यादातर समय इधर-उधर जाकर मोबाइल पर बातें करते नजर आए। देरी से पहुंचा वैक्सीन बाक्स:

जिला अस्पताल में करीब 11 बजे डीएम ड्राई रन का उद्घाटन करने पहुंचे। यहां जिला महिला अस्पताल की कोल्ड चेन से वैक्सीन बाक्स लाए जाने थे। डीएम के पहुंचने तक बाक्स नहीं आए, उद्घाटन के बाद बाक्स पहुंचे, तब कहीं जाकर माक ड्रिल शुरू कराया गया। ड्राई रन की रही यह व्यवस्था:

इसके लिए तीन कक्ष का प्रत्येक टीकाकरण स्थल बनाया गया। पहले कक्ष में प्रवेश करने वालों का सत्यापन, दूसरे में टीकाकरण और इसके बाद तीसरे कक्ष में 30 मिनट तक चिकित्सकीय निगरानी में रखने की व्यवस्था थी। माक ड्रिल के दौरान हर स्थल से एक व्यक्ति को दुष्प्रभाव के कारण बीमार दर्शाकर एंबुलेंस के जरिए इलाज के लिए इमरजेंसी वार्ड में भी भेजा गया।

पहले चरण के लिए मंगलवार को किया गया ड्राई रन संतोषजनक रहा। जो छोटी-मोटी कमियां रही हैं, उन पर काम कर टीकाकरण के दौरान और सुधार किया जाएगा।

- डा. अरविद कुमार गर्ग, सीएमओ ड्राई रन के लिए कर्मचारियों के प्रशिक्षण का समय काफी संक्षिप्त रहा था। अब प्रशिक्षण विस्तार से दिया जाएगा। इससे टीकाकरण के दौरान कोई गलती या कमी न रहे।

- डा. राम सिंह, डीआइओ

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.