22 साल पहले गांव छोड़ गया था अक्षय का परिवार

राजस्थान मध्य प्रदेश और दिल्ली पुलिस भी पहुंची थी गांव परिवार का कोई भी सदस्य गांव में नहीं आता-जाता

JagranSat, 24 Jul 2021 06:48 AM (IST)
22 साल पहले गांव छोड़ गया था अक्षय का परिवार

राजस्थान, मध्य प्रदेश और दिल्ली पुलिस भी पहुंची थी गांव, परिवार का कोई भी सदस्य गांव में नहीं आता-जाता जासं, एटा : आगरा के जगनेर थाना क्षेत्र में पुलिस मुठभेड़ में मारा गए कुख्यात बदमाश अक्षय राठौर उर्फ चिकी का परिवार राजा का रामपुर थाना क्षेत्र के गांव ताजपुर अड्डा से 22 वर्ष पहले चला गया था। तब से परिवार का कोई भी सदस्य गांव में नहीं आता-जाता। न ही गांव वालों को मालूम कि परिवार में अब कौन-कौन है और कहां रहते हैं।

गांव वालों ने जानकारी दी कि अक्षय के पिता रामवीर सिंह जब परिवार समेत यहां से गए थे तो फीरोजाबाद में बसने की कहकर गए थे। समाचार पत्रों से गांव वालों को मुठभेड़ की जानकारी मिली। शुक्रवार को गांव की चौपाल पर मौजूद लोगों ने बताया कि अक्षय को उन्होंने बचपन में ही देखा था। दो साल पहले राजस्थान और मध्य प्रदेश की पुलिस अक्षय की तलाश में आई थी, चोरी की घटनाओं के बारे में तहकीकात कर रही थी, लेकिन गांव में कोई नहीं मिला। डेढ़ वर्ष पूर्व दिल्ली पुलिस भी अक्षय की तलाश में पहुंची थी।

दरअसल अक्षय के खिलाफ 17 मुकदमे विभिन्न थानों में दर्ज हैं, लेकिन राजा का रामपुर में कोई मुकदमा दर्ज नहीं है। ग्रामीणों का कहना था कि कुछ मुकदमों में अक्षय का मूल पता गांव का लिखा होगा। इस वजह से विभिन्न स्थानों की पुलिस यहां आती रही है।

------------

क्या है मामला

13 जुलाई को आगरा के चिकित्सक उमाकांत गुप्ता का अक्षय और उसके गिरोह के सरगना बदन सिंह ने अपहरण कर लिया था। 14 जुलाई की रात पुलिस ने बीहड़ से चिकित्सक को मुक्त करा लिया था। गुरुवार रात मुठभेड़ में पुलिस ने बदन सिंह और अक्षय को मार गिराया। परिवार के लोग अक्षय का शव आगरा से लेकर चले गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.