प्रतिशोध की वर्षों से चली आ रही अदावत बनी हत्या की वजह

प्रतिशोध की वर्षों से चली आ रही अदावत बनी हत्या की वजह

जागरण संवाददाता बरहज थाना क्षेत्र के करजहां में शुक्रवार की शाम विश्वजीत उर्फ रंटू क

JagranSat, 17 Apr 2021 11:28 PM (IST)

जागरण संवाददाता, बरहज:

थाना क्षेत्र के करजहां में शुक्रवार की शाम विश्वजीत उर्फ रंटू की हुई हत्या प्रेम के प्रतिशोध की भावना का परिणाम है। यह कहानी पांच वर्ष से चली आ रही है। यह कहानी पूर्व में विश्वजीत के परिवार की एक युवती को प्रेम में भगा ले जाने से शुरू हुई थी। विश्वजीत उसी बदले में युवती को अपने प्रेम जाल में कैद कर वर्ष 2017 में भगा ले गया था। इस मामले में मऊ जनपद में मुकदमा दर्ज हुआ था। बाद में युवती अपने स्वजनों के पास लौट आई। लेकिन इस प्रेम कहानी में प्रतिशोध की ज्वाला कम नहीं हुई और विश्वजीत की हत्या कर दी गई। प्रेम कहानी में बदले की भावना ने खूनी खेल में तब्दील कर दिया। विश्वजीत अपनी प्रेमिका को उसके तिलक के दिन ही 2017 में लेकर फरार हो गया था। हालांकि युवती के कुछ माह बाद ही लौट कर घर आ जाने के बाद स्वजन शादी कर ससुराल को विदा कर दिए। हालांकि इसके बाद भी युवती के स्वजन के अंदर लगी बदले की आग नहीं बुझी और शादी के दस दिन पूर्व ही शुक्रवार की शाम विश्वजीत की गोली मारकर हत्या कर दी गई। विश्वजीत अपने पिता का इकलौता बेटा था। प्रेम प्रतिशोध में घर का चिराग गुल कर देने की योजना थी। विश्वजीत अपने दादा तपेश्वर के अंतिम संस्कार से लौट कर घर आया था। कुछ देर बाद मोहल्ले के दो युवकों के साथ गांव स्थित आटा चक्की पर पहुंचा जहां घटना को अंजाम दे दिया गया। प्रेम के खेल में बदले की भावना से हुई हत्या ने रंजिश की एक नई फसल बो दी है। देर रात तक पुलिस छावनी में तब्दील रहा गांव

- हत्या के बाद लोगों में आक्रोश बढ़ गया और लोग आरोपित के दरवाजे की तरफ भी बढ़ गए। हालांकि लोगों व पुलिस के समझाने के बाद लोग पीछे मुड़ गए। माहौल बिगड़ता देख देर रात तक एसपी डा.श्रीपति मिश्र, एएसपी राजेश कुमार सोनकर, सीओ देवानंद के अलावा बरहज, मईल, भलुअनी, रुद्रपुर व मदनपुर पुलिस देर रात तक गांव में जमी रही और पूरा गांव पुलिस छावनी में तब्दील रहा।

--

बुझ गया घर का इकलौता चिराग रंटू दो बहन गोल्डी व रागिनी का इकलौता भाई था। रंटू की शादी तय होने के बाद से ही खुशी का माहौल था। स्वजन शादी की तैयारी में जुटे थे, घर में मंगलगीत की शुरूआत हो गई थी। अचानक हुई घटना ने घर के इकलौते चिराग को बुझा दिया। हत्या के बाद मां शकुंतला देवी दहाड़ मारकर रोने लगी और रोते-रोते बेहोश हो जाती। वहीं बहन गोल्डी व रागिनी का भी रोते-रोते बुरा हाल हो गया था। मां व बहन शव से लिपट कर रोती रही। जब पुलिस शव लेने की कोशिश करती तो वह तीनों शव को ले जाने से रोक देती। बहन व मां को रोता देख वहां मौजूद लोगों की भी आंखें भर आई। --- सात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा

बरहज: करजहां में शुक्रवार की शाम हुई विश्वजीत उर्फ रंटू की गोली मारकर हत्या के मामले में पुलिस ने गांव के सात लोगों के खिलाफ हत्या, दलित अधिनियम समेत विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है। इस मामले में पुलिस ने पूछताछ के लिए कई लोगों को उठाया है। पुलिस अधिकारियों का दावा है कि जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा।

मृतक के पिता बुच्चू की तहरीर पर गांव के सुनील यादव, अंशू यादव, रवि यादव, गोपाल यादव, जगदीश यादव, अरविद यादव व सोनू यादव के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। हत्यारोपितों की गिरफ्तारी के लिए एसपी ने बरहज पुलिस के साथ ही एसओजी टीम को भी लगाया है। प्रभारी निरीक्षक जयंत सिंह ने कहा कि सात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.