उत्कृष्ट सेवा सम्मान से नवाजे गए स्वास्थ्यकर्मी

उत्कृष्ट सेवा सम्मान से नवाजे गए स्वास्थ्यकर्मी

सीएमओ डा. आलोक पांडेय ने कहा कि कोविड काल में कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए परिवार नियोजन सेवाएं सुचारू रूप से जारी रखनी होंगी। योग्य दंपतियों को प्रेरित करना होगा कि दो बच्चों में कम से कम तीन वर्ष का अंतर अवश्य हो।

JagranFri, 05 Mar 2021 01:57 AM (IST)

देवरिया: मंडल में शानदार प्रदर्शन करने वाले जिले के 19 स्वास्थ्यकर्मियों को गोरखपुर में समारोह आयोजित कर अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य डा. रक्षा रानी ने उत्कृष्ट सेवा सम्मान से सम्मानित किया।

सीएमओ डा. आलोक पांडेय ने कहा कि कोविड काल में कोविड-19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए परिवार नियोजन सेवाएं सुचारू रूप से जारी रखनी होंगी। योग्य दंपतियों को प्रेरित करना होगा कि दो बच्चों में कम से कम तीन वर्ष का अंतर अवश्य हो। उन्हें परिवार नियोजन के उचित साधन का चुनाव करने में समुचित मार्गदर्शन करना होगा। पुरुष नसबंदी की श्रेणी में जिले के भाटपाररानी ब्लाक को मंडल में दूसरे स्थान मिला है। वहीं अंतरा के मामले में गौरी बाजार ब्लाक को प्रथम स्थान मिला है। इन उपलब्धियों के लिए एसीएमओ आरसीएच डा. बीपी सिंह, सर्जन डा. राकेश कुमार, डा. अल्पनारानी गुप्ता, डा. अजय शाही, डा. सूर्यभान कुशवाहा, डीपीएम पूनम, जिला लेखा प्रबंधक प्रमोद जायसवाल, डीसीपीएम डा. राजेश गुप्ता, जिला डेटा प्रबंधक प्रमोद कुमार, क्यूएसी कंसल्टेंट डा. मोइनुदीन अंसारी, परिवार कल्याण लाजिस्टिक प्रबंधक संजय त्रिपाठी, जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ , ब्लाक टीम भाटपाररानी, ब्लाक टीम गौरीबाजार, आशा रेशमा देवी, एएनएम रंजना देवी, एएनएम पुष्पा देवी, आशा रागिनी और आशा रिकू जायसवाल को उत्कृष्ट सेवा सम्मान से अपर निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य ने सम्मानित किया। शिविर में दो सौ मरीजों का इलाज, वितरित की गईं दवाएं

देवरिया: आरोग्य भारती व राजकीय आयुर्वेदिक अस्पताल पैकौली व मझगांवा पीएचसी तथा जनसमग्र डेवलपमेंट फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में गुरुवार को क्षेत्र के बनुआडीह में चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में एनीमिया व नेत्र रोगियों की संख्या ज्यादे रही।

लाल बहादुर शास्त्री गन्ना किसान संस्थान लखनऊ के उपाध्यक्ष नीरज शाही ने कहा कि आज दुनिया में लोग भारतीय संस्कृति व भारतीय चिकित्सा पद्धति आयुर्वेद का लोहा मन लिए हैं। इस तरह के आयोजनों से लोगों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता आती है। कोरोना काल में पूरे विश्व में आयुर्वेद की दवाएं कारगर सिद्ध हुई हैं। उन्होंने कहा कि रोग प्रतिरोधक क्षमता के विकास के लिए अश्वगंधा चूर्ण, गिलोय घनवटी, विटामिन सी युक्त भोज्य पदार्थ जैसे नींबू, संतरा, आंवला, मौसम्मी आदि का सेवन करना चाहिए।

आरोग्य भारती के प्रांतीय उपाध्यक्ष डा. अजीत नारायण मिश्र ने कहा कि कोरोना काल में स्वस्थ जीवन शैली और योग आयुर्वेद अपनाकर हम अपने को मजबूत रख सकते हैं। नियमित साबुन से हाथ धोएं तथा स्वच्छता पर विशेष ध्यान दें। पिटू लाल यादव ने कहा कि आज पूरा विश्व योग और आयुर्वेद का लोहा मान रहा है। योग के प्रति लोगों में जागरूकता आई है। आगंतुकों के प्रति आभार शिविर संयोजक धर्मेंद्र मिश्रा उर्फ काजू ने व्यक्त किया। अध्यक्षता डा. गंगा शरण पांडेय ने किया। इस अवसर पर डा. जनार्दन तिवारी, डा. उमेश मिश्रा, नीतू, मिर्जा जावेद, रिकू, पूजा पांडे, गनेश, अनुराग पांडेय, दीपा तिवारी, सीमा यादव आदि उपस्थित रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.