अधिवक्ताओं ने कचहरी का गेट बंद कर दिया धरना

दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता विष्णु जायसवाल की पिटाई के मामले को लेकर कलेक्ट्रेट व दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता सोमवार को उग्र हो गए। अधिवक्ता दीवानी न्यायालय गेट बंद कर धरने पर बैठ गए। जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और न्याय दिलाने तक न्यायिक कार्य से विरत रहने का एलान किया।

JagranMon, 06 Dec 2021 09:56 PM (IST)
अधिवक्ताओं ने कचहरी का गेट बंद कर दिया धरना

देवरिया: दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता विष्णु जायसवाल की पिटाई के मामले को लेकर कलेक्ट्रेट व दीवानी न्यायालय के अधिवक्ता सोमवार को उग्र हो गए। अधिवक्ता दीवानी न्यायालय गेट बंद कर धरने पर बैठ गए। जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और न्याय दिलाने तक न्यायिक कार्य से विरत रहने का एलान किया।

अधिवक्ता दीवानी न्यायालय गेट पर पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे। इस बीच अधिवक्ताओं ने दीवानी न्यायालय का गेट बंद कर दिया और जिला प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। अधिवक्ताओं ने कहा कि प्रशासन तानाशाही रवैया अपना रहा है। दोषी अधिकारियों के खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज होना चाहिए। प्रशासन पूरे प्रकरण की लीपापोती करने में जुटा है। मंगलवार से किसी भी पुलिसकर्मी को न्यायालय में नहीं जाने दिया जाएगा। न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे। प्रशासन अपनी हठधर्मिता पर अड़ा है तो अधिवक्ता सड़क पर आकर प्रशासन की अब नींद खराब कर देंगे। इस दौरान डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सिंहासन गिरी, मनोज राय, सुभाष चंद, लल्लन मिश्र, विद्या सागर मिश्र, निराला, अशोक दीक्षित, अरविद साहनी, राम प्रसाद कुशवाहा समेत अन्य अधिवक्ता मौजूद रहे। मुआवजे की मांग को लेकर सपा कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

बरहज: समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को बरसात से धान की फसल को हुए नुकसान का मुआवजा दिए जाने की मांग को लेकर तहसील में धरना दिया। सपा नेता विजय रावत ने कहा कि बरहज विधानसभा क्षेत्र में किसानों की हजारों एकड़ धान की पकी फसल बारिश एवं बाढ़ के वजह से पानी मे डूब गई। जिससे किसानों का भारी नुकसान हुआ है। सरकार व प्रशासन को बरहज के किसानों के फसलों के हुए नुकसान का सही आकलन कराकर जल्द से जल्द मुआवजा देना चाहिए। राजस्वकर्मियों की लापरवाही से किसानों का डाटा गायब कर दिया गया है। सयुस जिलाध्यक्ष रणवीर यादव ने कहा कि भाजपा सरकार में किसानों व गरीबों की सुधि लेने वाला कोई नहीं है। किसान अपने अधिकारों की रक्षा के लिए पहले से ही आंदोलनरत हैं, वहीं बाढ़ और भारी बारिश ने किसानों के मुंह से निवाला छीनने का कार्य किया है। यदि किसानों के फसलों के नुकसान का जल्द मुआवजा नहीं मिला तो युवा समाजवादी आंदोलन को बाध्य होंगे। सछास जिलाध्यक्ष मनोज यादव, अनिल गोस्वामी व युवजन सभा के प्रदेश सचिव हरिओम लाला ने भी धरने को संबोधित किया। इस दौरान सयुस के जिला महासचिव इमामुद्दीन खान, विकास यादव, शोभित जायसवाल, अंकित यादव, राजकुमार, संतोष, सोनू यादव, कृष्ण मोहन, गब्बर, अजीत, अशोक यादव, यशवंत यादव, कृष्णप्रताप सिंह, कपूरचंद विश्वकर्मा, अभितोष, सतीश चंद्र, अनुज विश्वकर्मा, संदीप यादव, गोलू मौजूद रहे।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.