पिछले दिनों उफान पर आई गंगा अब होने लगी शांत

जेएनएन बुलंदशहर पिछले दिनों उफान पर आई गंगा अब शांत होने लगी है। चढ़ा जलस्तर नीचे आने लगा है। इससे बाढ़ के हालात अब गंगा के तटीय एवं आसपास के क्षेत्रों में हालात सामान्य होने लगे हैं। हालांकि अफसर अभी भी चौकसी में लगे हैं। आसपास के तटीय आबादी एवं गैर आबादी इलाके में निगरानी करा रहे हैं।

JagranWed, 23 Jun 2021 09:16 PM (IST)
पिछले दिनों उफान पर आई गंगा अब होने लगी शांत

जेएनएन, बुलंदशहर : पिछले दिनों उफान पर आई गंगा अब शांत होने लगी है। चढ़ा जलस्तर नीचे आने लगा है। इससे बाढ़ के हालात अब गंगा के तटीय एवं आसपास के क्षेत्रों में हालात सामान्य होने लगे हैं। हालांकि अफसर अभी भी चौकसी में लगे हैं। आसपास के तटीय आबादी एवं गैर आबादी इलाके में निगरानी करा रहे हैं।

पहाड़ों पर हुई बरसात की वजह से मैदानी इलाकों में तीन दिनों से गंगा ने रौद्र रूप दिखाया। हालांकि अब बरसात नहीं हो रही। इससे नरौरा बैराज पर गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से अभी नीचे 0.205 मीटर बना हुआ है। जबकि एक दिन पहले जरगवां क्षेत्र के रामघाट में कटान होने से गंगा का बहाव श्मशान घाट तक पहुंच गया। ऐसे में प्रशासन सतर्कता बरत रहा है। अफसरों का कहना है कि अभी फिलहाल खतरे वाली स्थिति नहीं है, लेकिन जिले की तीनों तहसीलों में बाढ़ और बचाव के इंतजाम मुक्कमल किए गए है। बाढ़ चौकियों को सक्रिय कर निगरानी की जा रही है। राहत शिविर के साथ नाव और मोटर वोट की संख्या भी बढ़ाई गई है। तहसील एवं ग्राम पंचायत के अफसरों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। गंदगी की समस्या से भी निपटने की तैयारी

जलस्तर कम होने से गंदगी आदि की समस्या उत्पन्न होने लगी है। जिससे निपटने की तैयारी भी की गई है। बीमारी न फैले इसलिए शुद्ध पेयजल के लिए पानी की टंकियों की साफ-सफाई, पशुओं का टीकाकरण कराने की व्यवस्था की गई है। गंदगी साफ करने के लिए पंचायत के जिम्मेदारों को लगाया गया है। जर्जर विद्युत पोल एवं तारों को दुरस्त कराने के भी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

इन्होंने कहा..

जिले में बाढ़ के हालत नहीं हैं। गंगा का जलस्तर भी अब नीचे जा रहा है। हालांकि गंगा का जलस्तर बढ़ने पर बाढ़ की रोकथाम एवं बचाव की तैयारी की गई है।

सहदेव मिश्र, एडीएम एफआर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.