सामान खरीदकर लौट रहे युवक पर धारदार हथियार से हमला

सामान खरीदकर लौट रहे युवक पर धारदार हथियार से हमला

ऊंचागांव कस्बा ऊंचागांव से सामान खरीदकर घर लौट रहे युवक पर चार लोगों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। युवक को गंभीर हालत में जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया है।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 11:49 PM (IST) Author: Jagran

जेएनएन, बुलंदशहर। ऊंचागांव कस्बा ऊंचागांव से सामान खरीदकर घर लौट रहे युवक पर चार लोगों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया। युवक को गंभीर हालत में जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया है।

थाना नरसेना क्षेत्र के गांव महुआखेड़ा निवासी भूरा पुत्र ओमप्रकाश गुरुवार देर शाम को कस्बा ऊंचागांव से घरेलू सामान खरीदकर लौट रहा था। आरोप है कि गांव के निकट पहले से घात लगाकर कर बैठे सुदेश पुत्र हरि निवासी विगराऊ थाना स्याना, लोकेश व उमेश पुत्रगण भूदेव निवासी दरावर थाना आहार, रवि निवासी पहाड़पुर थाना अनूपशहर, संदीप पुत्र कंछिद निवासी दरावर थाना आहार ने धारदार हथियार हमला कर दिया। हमले में भूरा लहूलुहान हो गया। पुलिस ने घायल को उपचार के लिए कस्बे के सामुदायिक स्वास्थ केन्द्र में भर्ती कराया, जहां से उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर किया गया है। पुलिस ने घायल भूरा के दादा जयनारायण की तहरीर पर पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। थाना प्रभारी शोकेंद्र सिंह ने बताया कि घायल को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है और मुकदमा दर्ज कर तीन लोगों हिरासत में लिया है। जाति-सूचक शब्द बोलकर की मारपीट

बुलंदशहर : शहर के मोहल्ला पन्नी नगर निवासी राजेंद्र सिंह ने स्पीड पोस्ट से एसएसपी गाजियाबाद को प्रार्थना पत्र भेजा है। बताया कि पिछले दिनों वह गाजियाबाद की एक सिक्योरिटी एजेंसी पर नौकरी के लिए गया था। वहां साक्षात्कार लेने वाले एजेंसी संचालक ने जाति पूछकर गालियां दी और विरोध करने पर जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए बीच सड़क पर मारपीट की। थाने जाने पर रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। -जासं

मृत सर्राफ के स्वजन को 50 लाख मुआवजे की मांग

बुलंदशहर : अखिल भारतीय मैढ़ क्षत्रिय समाज ने एसएसपी को ज्ञापन देकर सर्राफ रोहताश वर्मा के आश्रित स्वजनों को 50 लाख रुपये मुआवजा दिलवाने की मांग की है। संगठन के अध्यक्ष राज वर्मा ने कहा कि 22 नवंबर को रोहताश वर्मा की हत्या कर दी गई थी। उनकी मौत के बाद उनकी पत्नी व तीन छोटे बच्चे हैं। सभी उन पर आश्रित थे। शासन से आश्रितों को 50 लाख रुपये मुआवजा दिलाया जाए। ज्ञापन देने वालों में अनिल कुमार वर्मा, पुष्पा सिंह तथा अशोक कुमार वर्मा आदि थे। -जासं

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.