देहात की सड़कों को गड्ढ़ामुक्त होने का इंतजार

देहात की सड़कों को गड्ढ़ामुक्त होने का इंतजार
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 03:56 AM (IST) Author: Jagran

बिजनौर जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवरात्रों से पहले नेशनल हाईवे, स्टेट हाईवे और डिस्ट्रिक्ट हाईवे की सड़कों को गड्ढ़ामुक्त करने के निर्देश दिए थे, लेकिन दशहरा तक सिर्फ नेशनल हाईवे पर मरम्मत का काम किया गया। स्टेट हाईवे, डिस्ट्रिक्ट और संपर्क मार्गों की हालत में कोई सुधार नहीं हुआ है। अब पेराई सत्र शुरू होने के बाद ऐसे में बदहाल व टूटी सड़कों की हालत और खराब हो जाएगी।

जनपद से मेरठ-पौड़ी, पानीपत-खटीमा और देहरादून नैनीताल राष्ट्रीय राजमार्ग और बिजनौर-बदायूं मार्ग गुजरता है। मुख्यमंत्री के आदेश के बाद राष्ट्रीय राजमार्गों की मरम्मत का काम हुआ, लेकिन अभी स्टेट हाईवे, डिस्ट्रिक्ट और संपर्क मार्गों की हालत में कोई सुधार नहीं हुआ है। ग्रामीण क्षेत्रों को जोड़ने वाले संपर्क मार्गों की हालत काफी खराब है। बदहाल संपर्क मार्गों पर अक्सर दुर्घटना का अंदेशा बना हुआ है। वहीं धामपुर क्षेत्र से गुजर रहे नेशनल हाईवे-74 पर नगीना चौराहा से लेकर शेरकोट मार्ग तक हाईवे की मरम्मत का काम पूरा हो गया, पर ग्रामीण क्षेत्रों में अभी सीएम के आदेशों का असर होता नहीं दिख रहा है। अफजलगढ़ में कादराबाद-कटारमल मार्ग, अफजलगढ़-हरेवली मार्ग और नेशनल हाइवे को जोड़ने वाले कासमपुर गढ़ी मुख्य संपर्क मार्ग पहले की तरह बदहाल हैं। अब मिलों का पेराई सत्र भी प्रारंभ हो गया है, ऐसे में किसानों को इन्हीं बदहाल सड़कों से गन्ना लेकर मिलों तक जाना पड़ेगा। उधर, एसडीएम धीरेंद्र सिंह का कहना है कि नेशनल हाईवे और मुख्य मार्गों पर गड्ढ़ामुक्त किया जा चुका है।

इसके अलावा नजीबाबाद क्षेत्र से गुजर रहे हरिद्वार-काशीपुर एवं मेरठ-पौड़ी राष्ट्रीय राजमार्ग और प्रमुख सड़कों को गड्ढ़ामुक्त किए जाने का अभियान चलाया गया, पर ग्रामीण क्षेत्रों में राष्ट्रीय राजमार्ग को जोड़ने वाले बाईपास मार्गों, हाईवे से नगर की आबादी को जोड़ने वाले दोयजवाली-टीला मंदिर संपर्क मार्ग, बुंदकी-कोतवाली नहर पटरी मार्ग, सिकंदरपुर बसी-गुनियापुर, झक्काकी-मुस्सेपुर संपर्क मार्ग अभी खस्ताहाल हैं। चांदपुर क्षेत्र में सीएम के सड़कों को गड्ढ़ामुक्त करने के आदेश पर सिर्फ हाइवे पर पैचवर्क कर कार्य पूरा किया गया। मुरादाबाद व बिजनौर-बदायूं स्टेट हाइवे को जोड़ने वाले अम्हेड़ा एवं पैजनिया मार्ग पर गड्ढ़ों के अलावा कुछ नजर नहीं आता है। इसके अलावा फीना, बास्टा मार्ग भी गड्ढ़ों को भरने का इंतजार कर रहा है।

इनका कहना है..

जिले में गड्ढ़ायुक्त सड़कों को चिह्नित करने के साथ-साथ इन सड़कों के निर्माण/मरम्मत की कार्ययोजना मंजूरी के लिए शासन को भेजी है। मंजूरी मिलते शेष रही गड्ढ़ायुक्त सड़कों की मरम्मत कराने का काम शुरू करा दिया जाएगा।

-केपी सिंह, सीडीओ।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.