एंबुलेंस चालकों की निगरानी में लगाई गई टीमें

एंबुलेंस चालकों की निगरानी में लगाई गई टीमें

जनपद में एंबुलेंस का किराया निर्धारित किए जाने के बाद मनमाना किराया वसूल किए जाने की अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है इसके बावजूद प्रशासन ने एंबुलेंस चालकों की निगरानी को कई टीमें लगा दी हैं। हालांकि चोरी-छिपे निर्धारित शुल्क से ज्यादा लिए जाने के मामले सामने आ रहे हैं।

JagranMon, 10 May 2021 10:49 PM (IST)

जेएनएन, बिजनौर। जनपद में एंबुलेंस का किराया निर्धारित किए जाने के बाद मनमाना किराया वसूल किए जाने की अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है, इसके बावजूद प्रशासन ने एंबुलेंस चालकों की निगरानी को कई टीमें लगा दी हैं। हालांकि चोरी-छिपे निर्धारित शुल्क से ज्यादा लिए जाने के मामले सामने आ रहे हैं।

कोरोना संक्रमण काल में आए-दिन संक्रमितों के परिजनों से एंबुलेंस का अधिक किराया वसूलने जाने की शिकायतें मिल रही थीं। इस वसूली पर अंकुश लगाने के लिए जिला प्रशासन ने रविवार देर शाम आक्सीजन रहित एंबुलेंस का दस किमी. दूरी का किराया एक हजार रुपये और इसके बाद 30 रुपये प्रति किलोमीटर की दर से किराया तय किया है। इसके अलावा आक्सीजन युक्त एंबुलेंस का दस किमी तक का किराया 1500 रुपये, इसके बाद 40 रुपये प्रति किलोमीटर और वेंटीलेटर युक्त एंबुलेंस का दस किमी. तक किराया 2500 रुपये और इसके बाद 100 रुपये प्रति किलोमीटर की दर निर्धारित करने के साथ-साथ एआरटीओ प्रशासन मनोज कुमार को नोडल अधिकारी नामित किया है। उधर, जिला प्रशासन ने इन एंबुलेंस चालकों की निगरानी के लिए कई टीमें लगाई हैं, ताकि शिकायत मिलने पर जांच कराकर तत्काल आरोपित एंबुलेंस चालक के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जा सके। सूत्रों का कहना है कि अभी पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112, ट्रैफिक हेल्प लाइन नंबर 7839864415 और 01342-262031 पर ऐसी कोई शिकायत नहीं मिली है। मोहल्ला नईबस्ती निवासी हितेश कुमार, मोहल्ला खत्रियान निवासी अनूप कुमार आदि का कहना है कि एंबुलेंस का किराया निर्धारित होने के बाद पीड़ितों को राहत मिली है, कितु अभी कुछ एंबुलेंस चालक मौका देखकर अधिक किराया वसूलने से बाज नहीं आ रहे। ऐसे एंबुलेंस चालकों के खिलाफ कार्रवाई होना जरूरी है। इनका कहना है-

अभी तक एंबुलेंस चालकों द्वारा निर्धारित दर से अधिक किराया वसूलने की शिकायत नहीं मिली है। शिकायत मिलने पर जांच कराकर आरोपित एंबुलेंस के विरुद्ध विधिक कार्रवाई की जाएगी।

-डा. प्रवीण रंजन सिंह, एएसपी सिटी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.