खत्म हो रहा हीमपुर पृथ्या के तालाब का अस्तित्व

खत्म हो रहा हीमपुर पृथ्या के तालाब का अस्तित्व

जेएनएन बिजनौर। तालाब जल संचयन का मुख्य स्त्रोत होते हैं लेकिन गांव हीमपुर पृथ्या स्थित तालाब अपना

JagranThu, 13 May 2021 07:10 PM (IST)

जेएनएन, बिजनौर। तालाब जल संचयन का मुख्य स्त्रोत होते हैं, लेकिन गांव हीमपुर पृथ्या स्थित तालाब अपना अस्तित्व खो रहा है। तालाब बहुत संकीर्ण हो चुका है, वहां न तो जल संचयन जैसी कोई बात नजर आती है और न ही हरियाली। स्थिति यह है कि तालाब में गांव की गंदगी डाले जाने के साथ-साथ गंदे पानी की निकासी हो रही है। समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो गांव से तालाब लगभग समाप्त हो जाएगा।

विकास खंड नूरपुर से लगभग दस किलोमीटर दूर स्थित गांव हीमपुर पृथ्या में दशकों पुराना तालाब है। यह कागजों में करीब चार बीघा भूमि में दर्ज है, लेकिन तालाब अतिक्रमण और गांव की गंदगी की भेंट चढ़ चुका है। आसपास रहने वाले परिवारों द्वारा तालाब किनारे पशुओं का गोबर, पालीथिन व पशुशाला में जमा गंदगी को डाला जा रहा है। इससे तालाब का अस्तित्व ही खतरे में पड़ता जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि कभी यह तालाब जल संचयन को मुख्य स्त्रोत हुआ करता था। ग्रामीणों के साथ-साथ मवेशी भी इस पर निर्भर रहते थे, लेकिन अब यहां की तस्वीर बदल चुकी है। तालाब में ऊंची-ऊंची झाड़ियां खड़ी हैं। तालाब के कुछ हिस्से में पानी है तो वह बुरी तरह दूषित हो चुका है। यदि समय-समय पर तालाब के सौंदर्यीकरण और हरियाली पर ध्यान दिया जाता तो तस्वीर दूसरी होती। जबकि, गत वर्षों में तालाब के सौंदर्यीकरण के लिए सरकारी की ओर से विभिन्न योजनाएं भी आई, लेकिन न तो अधिकारियों और न ही जनप्रतिनिधियों ने इस पर ध्यान दिया। यही वजह है कि यह तालाब अतिक्रमण के चलते सिकुड़ गया है। अधिकारियों के साथ-साथ ग्रामीणों को भी जागरूक होने की जरूरत है। इससे ग्रामीणों को बहुत फायदा पहुंच सकता है।

विदुर कुटी का महत्व बताया

बिजनौर : अखिल भारतीय सैनी, शाक्य, मौर्य, कुशवाह, माली संगठन की ओर से सैनी धर्मशाला दारानगर गंज में बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील कुमार ने बताया कि विदुर कुटी तपस्थली का पुरातात्विक महत्व है। विदुर कुटी में द्वापर युग में कृष्ण भगवान ने महात्मा विदुर संग साग खाया था। इस मौके पर उन्होंने विदुर कुटी को महाभारत सर्किट में शामिल करने की मांग की है। बैठक में कल्याण सिंह सैनी, शमशेर सिंह सैनी, अजय मौर्य, ब्रिजेश कुमार कुशवाह, राजपाल सैनी आदि मौजूद रहे। -संस

--

क्रय केंद्र पर गेहूं की खरीद बंद

गंज दारानगर : गेहूं क्रय केंद्र गंज स्थित किसान सहकारी समिति लिमिटेड में एफसीआई द्वारा शुरू किया गया है। खरीदे गए गेहूं का उठान न होने के कारण क्रय केंद्र पर किसानों की गेहूं से भरी ट्रैक्टर-ट्रॉली की लंबी कतार लग गई है और गेहूं रखने के लिए जगह न होने के कारण तौल बंद हो गई। गेहूं खरीद केंद्र के प्रभारी नौ सिंह ने बताया कि केंद्र पर 2285 कुंतल गेहूं की खरीद हो चुकी है। कई किसानों को भुगतान किया गया है। गेहूं का उठान न होने के कारण ही तौल बंद पड़ी है। -संसू पुलिस ने पैदल मार्च निकाला

गंज दारानगर : गंज पुलिस चौकी इंचार्ज एसआई अमित कुमार न खुद कमान संभाली और पुलिस स्टाफ के साथ गंज में मुख्य मार्ग पर फ्लैग मार्च किया और जिन दुकानदारों ने लाक डाउन का उल्लंघन करते हुए दुकान खोली उन्हें बंद करा कर उन्हें हड़काया तथा पुन: ऐसी गलती न दोहराने की चेतावनी दी। कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते गंज में पिछले कुछ दिनों में बुखार बहुत तेजी से फैला है लोग कोरोना संक्रमण की परवाह किए घर से बाहर निकल रहे हैं। पुलिस ने बिना मास्क लगाए लोगों को चेतावनी देकर छोड़ दिया। -संसू

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.