भाजपाइयों की हत्या पर रोष जताया, सांकेतिक धरना

नजीबाबाद में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने की मांग को लेकर धरना दिया। कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में भाजपाइयों की हत्या पर रोष जताया और घटना में शामिल आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

JagranThu, 06 May 2021 11:08 PM (IST)
भाजपाइयों की हत्या पर रोष जताया, सांकेतिक धरना

बिजनौर, जेएनएन। नजीबाबाद में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू किए जाने की मांग को लेकर धरना दिया। कार्यकर्ताओं ने पश्चिम बंगाल में भाजपाइयों की हत्या पर रोष जताया और घटना में शामिल आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

टीला मन्दिर प्रांगण में हुए सांकेतिक धरने पर भाजपा जिला सह मीडिया प्रभारी विक्रांत चौधरी, विधानसभा संयोजक संदीप तायल, नगराध्यक्ष पंकज शर्मा, नगर महामंत्री विशाल महेश्वरी एवं नगर महामंत्री संजय सैनी आदि बैठे।

किरतपुर : भाजपा कार्यालय के बाहर गुरुवार को नगर एवं ब्लाक कार्यकर्ताओं ने धरना व प्रदर्शन कर बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के विरोध में रोष व्यक्त किया। राष्ट्रपति से राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की गई। कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालन करते हुए धरने पर नगराध्यक्ष योगेंद्र राजपूत, ग्रामीण मंडलाध्यक्ष मनोज बालियान, गौरव पाराशर, राजवीर सिंह, राजकुमार शर्मा, देवेंद्र तोमर, डा.वीरेंद्र, संजय चौहान, कैलाश पाल, ज्ञानेंद्र जंघाला, विजेंद्र चौधरी, जितेंद्र शर्मा, क्षेत्रपाल सिंह आदि ने विचार व्यक्त किए।

- - - - - - मिलीभगत करके चुनाव में हरवाने का आरोप

रेहड़ : जिला पंचायत वार्ड संख्या-52 अफजलगढ़ प्रथम सीट से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़े एक प्रत्याशी ने मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाया है। उनका आरोप है कि मिलीभगत करके उन्हें जबरन चुनाव हरवाया गया है। उन्होंने इस संबंध में न्यायालय की शरण में जाने की बात कही है।

अफजलगढ़ प्रथम सीट से फरीद अहमद जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़े थे, वह बसपा समर्थित प्रत्याशी थे। उन्होंने विकास खंड अफजलगढ़ क्षेत्र के पंचायत चुनाव की मतगणना के लिए तैनात एक अधिकारी, मतगणना टेबल से संबंधित कर्मियों और एक निर्दलीय प्रत्याशी पर आरोप लगाया है। आरोप है कि मतगणना के प्रथम दिन उनके चुनाव चिन्ह वाले मतों की एक गड्डी को निर्दलीय प्रत्याशी वाले मतों की गड्डी में मिलाने का प्रयास किया गया था। जिसे उसके एजेंटों ने नाकाम कर दिया था। उस दिन भी संबंधित अधिकारी से इस बाबत शिकायत की गई थी मगर संतोषजनक कार्रवाई नहीं की गई। फरीद अहमद का आरोप है कि मतगणना में निर्दलीय प्रत्याशी के समर्थन में मिलीभगत करके गड़बड़ी की गई है। फरीद अहमद ने बताया कि न्यायालय का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रहे हैं, जिसमें जांच कराते हुए फिर से मतगणना कराने की मांग की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.