सादे पानी की भाप लेकर मजबूत बनाएं श्वसन तंत्र

सादे पानी की भाप लेकर मजबूत बनाएं श्वसन तंत्र

कोरोना वायरस बार-बार अपना स्वरूप बदल रहा है लेकिन इतना तो स्पष्ट हो चुका है कि कोरोना वायरस अस्वस्थ व्यक्ति अथवा कम रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्ति को जल्दी प्रभावित करता है इसलिए जरूरी हो जाता है कि हम अपने भीतर स्वास्थ्य अवरोध को पैदा न होने दें।

JagranMon, 10 May 2021 05:47 AM (IST)

बिजनौर, जेएनएन। कोरोना वायरस बार-बार अपना स्वरूप बदल रहा है, लेकिन इतना तो स्पष्ट हो चुका है कि कोरोना वायरस अस्वस्थ व्यक्ति अथवा कम रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले व्यक्ति को जल्दी प्रभावित करता है, इसलिए जरूरी हो जाता है कि हम अपने भीतर स्वास्थ्य अवरोध को पैदा न होने दें। जब तक कोरोना संक्रमण से निजात नहीं मिल जाती, तब तक हो सके तो घर पर ही रहकर सादा और संयमित जीवन जीएं। फिजिशियन डा.एसके जौहर ने यह बात कही।

डा. जौहर कहते हैं कि गर्मी के दिन हैं। कूलर, एसी का इस्तेमाल और ठंडे पदार्थो का सेवन स्वभाविक है, लेकिन यह देख लेना चाहिए कि इनका उपयोग और सेवन बीमार व्यक्ति न करें। स्वस्थ व्यक्ति ही सामान्य रूप से ठंडी हवा ले सकते हैं, लेकिन हो सके तो ठंडे पेय एवं खाद्य पदार्थों के सेवन से बचा जाए। इससे गले में खराश होने, सिरदर्द, बदन दर्द आदि स्वास्थ्य संबंधी अड़चनें पैदा हो सकती हैं। खान-पान में तुलसी, अदरक और हल्दी का इस्तेमाल करने को प्राथमिकता दें। वर्तमान हालातों को देखते हुए श्वसन तंत्र को मजबूत करने की जरूरत है। सुबह-शाम सादे पानी की भाप लेकर ऐसा किया जा सकता है। यह सब घर बैठे स्वास्थ्य अवरोध से बचने के सरल उपाय हैं। बाहर कोरोना कहर बरपा रहा है। इसके संक्रमण से बचने के लिए दो मास्क को पहनना, पर्याप्त शारीरिक दूरी बनाना, सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना बेहद जरूरी हो गया है। जब तक कोरोना संक्रमण से निजात नहीं मिल जाती, तब तक हो सके तो घर पर ही रहकर सादा और संयमित जीवन जीएं। - - - - - - - - - -

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.