भाकियू ने एससीडीआइ को सौंपा ज्ञापन

भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति अराजनैतिक की बैठक गन्ना समिति परिसर में आयोजित की गई। इस दौरान किसानों की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की गई। साथ ही आनलाइन घोषणा पत्र न भरने पर जोर दिया गया। साथ ही गन्ना पर्ची पिछले वर्ष की भांति 18 कुंतल पर ही काटने की मांग की गई। बाद में गन्ना केन कमिश्नर को संबोधित ज्ञापन एससीडीआइ को सौंपा गया।

JagranTue, 03 Aug 2021 06:02 PM (IST)
भाकियू ने एससीडीआइ को सौंपा ज्ञापन

जेएनएन, बिजनौर। भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति अराजनैतिक की बैठक गन्ना समिति परिसर में आयोजित की गई। इस दौरान किसानों की विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की गई। साथ ही आनलाइन घोषणा पत्र न भरने पर जोर दिया गया। साथ ही गन्ना पर्ची पिछले वर्ष की भांति 18 कुंतल पर ही काटने की मांग की गई। बाद में गन्ना केन कमिश्नर को संबोधित ज्ञापन एससीडीआइ को सौंपा गया।

बैठक में संगठन के अध्यक्ष जितेंद्र कुमार ने कहा कि आनलाइन घोषणा पत्र नहीं भरवाए जाएं, पिछले वर्ष की भांति गन्ना पर्ची 18 कुंतल पर ही काटी जाए, जिन किसानों की कोरोजन व चीनी की डबल डिमांड काट ली है, उसका तुरंत भुगतान किया जाए। छह पर्ची तक आधे कैलेंडर तक लगाई जाएं। पर्ची प्रिट के नाम पर जो पैसा किसानों का काटा गया है और पर्ची नहीं छापी गई हैं, उसका तुरंत भुगतान किया जाए। तीनों काले कानूनों को रद्द किया जाए तथा एमएसपी पर कानून की गारंटी दी जाए। इस दौरान भूपेंद्र सिंह, विजयपाल सिंह, अरुण कुमार, घनश्याम सिंह, लोकेंद्र सिंह, राजेंद्र सिंह, तेजपाल आदि उपस्थित रहे।

जान से मारने की धमकी देने का आरोप

नहटौर के गांव फुलसंदा हीरा निवासी अर्जुन पुत्र रामकुमार ने बताया कि उसे गांव में तालाब का एक पट्टा दिया गया है। आरोप है कि इस पर नहटौर के मोहल्ला पीरशहीद काला निवासी चार लोग जबरन मछली पालन करने पर आमादा हैं। इसका विरोध किया तो वह लोग मारपीट पर उतारू हो गए। आरोप है कि यह लोग उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पीड़ित ने इस संबंध में एएसपी पूर्वी अनित कुमार से शिकायत करते हुए इस मामले में कार्रवाई किए जाने की मांग की है। एएसपी ने बताया कि मामले की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.