अगले हफ्ते बंटेगा दूसरे चरण का मुआवजा, होगी रजिस्ट्री

अगले हफ्ते बंटेगा दूसरे चरण का मुआवजा, होगी रजिस्ट्री

गजिया ओवरब्रिज के निर्माण को लेकर प्रशासन स्तर से भले ही लापरवाही बरती जा रही है लेकिन उत्तर प्रदेश सेतु निगम जल्द काम निपटाना चाहती है। दूसरे चरण का मुआवजा वितरण व जमीनों की रजिस्ट्री की तैयारी तेजी से चल रही है। सेतु निगम द्वारा 29 भू स्वामियों के नाम डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) बनवाया जा रहा है।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 06:34 PM (IST) Author: Jagran

जागरण संवाददाता, भदोही : गजिया ओवरब्रिज के निर्माण को लेकर प्रशासन स्तर से भले ही लापरवाही बरती जा रही है, लेकिन उत्तर प्रदेश सेतु निगम जल्द काम निपटाना चाहती है। दूसरे चरण का मुआवजा वितरण व जमीनों की रजिस्ट्री की तैयारी तेजी से चल रही है। सेतु निगम द्वारा 29 भू स्वामियों के नाम डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) बनवाया जा रहा है। संभवत: मंगलवार तक बैंक से डीडी मिलते ही तिथि निर्धारित कर विभागीय टीम वितरण व रजिस्ट्री को भदोही आ जाएगी। पहले चरण में 26 भू स्वामियों के नाम डीडी बन चुकी है, इसमें 22 लोगों को मुआवजे की रकम वितरित कर जमीनों की रजिस्ट्री कराई जा चुकी है। आपसी विवाद के कारण चार भू स्वामियों को होल्ड पर रखा गया है। ब्रिज निर्माण की जद में 66 मकान व प्रतिष्ठान आ रहे हैं। 14.32 करोड रुपये कुल मुआवजा राशि प्रभावित परिवारों को देनी है, जबकि सेतु निगम के पास 10.80 करोड रुपये उपलब्ध हैं। प्रयास किया जा रहा कि जितना धन है उतना वितरण कर निर्माण कार्य शुरू कराया जाए। पहले चरण में निगम ने 26 भू स्वामियों के नाम डीडी बनवाई थी। छह व सात जनवरी को उपनिबंधक कार्यालय बुलाकर 22 लोगों को मुआवजा देते हुए जमीनों की रजिस्ट्री करा दी। दूसरे चरण में 29 लोगों की सूची बैंक को सौंपी गई है। सहायक अभियंता हरेंद्र यादव ने बताया कि सोमवार या मंगलवार तक बैंक से डीडी मिल जाएगी। डीडी मिलते ही भू स्वामियों को सूचित कर मुआवजा वितरण व रजिस्ट्री की तिथि निर्धारित की जाएगी। चार लोगों का आपसी विवाद के कारण होल्ड पर रखा गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.