रामायण काल के मुहुर्त में हुआ श्रीराम-जानकी का विवाह

जागरण संवाददाता मोढ़(भदोही) क्षेत्र के गड़ेरियापुर स्थित धनुषयज्ञ मेला में बुधवार की रात र

JagranWed, 08 Dec 2021 08:54 PM (IST)
रामायण काल के मुहुर्त में हुआ श्रीराम-जानकी का विवाह

जागरण संवाददाता, मोढ़(भदोही): क्षेत्र के गड़ेरियापुर स्थित धनुषयज्ञ मेला में बुधवार की रात रामायण काल के मुहुर्त के हिसाब से भगवान श्रीराम व मां जानकी का विवाह हुआ। हिदी महीने के मार्गशीर्ष (अगहन) में धनुष यज्ञ मेले का आयोजन किया जाता है। मेले में ही हर्षोल्लास के साथ राम-जानकी विवाह का मंचन किया गया।

इन पलों का साक्षी बनने जिले के ही नहीं बल्कि आस-पास के जनपदों के लोग भी पहुंचे। पूरे सात दिन तक क्रमवार आयोजन चलता है। अंत में विवाह व विदाई का कार्यक्रम कर मेले का समापन किया जाता है। स्थानीय लोगों का कहना है कि यह परंपरा सैकड़ा वर्ष से अधिक से चली आ रही है। मेला में धनुष भंग करने का मंचन किया जाता है। इसके पश्चात बड़े ही हर्षोल्लास के साथ भगवान श्रीराम और जानकी की शादी होती है। विदाई के बाद सात दिवसीय मेल का समापन बुधवार को कर दिया जाएगा। इस मेल में भदोही के अलावा पूर्वांचल के कई जिलों के आस्थावान शामिल होते हैं। अलग-अलग जिलों के प्रमुख व्यजंन की दुकानें भी मेले में सीज रहीं। सुरक्षा को लेकर पुलिस फोर्स की तैनाती की गई थी। फायर ब्रिगेड के जवान भी मुस्तैद रहे।

----------------------

चुटहिया जलेबी की रही धूम, उमड़ी रही भीड़

मेला में हजारों की भीड़ उम़ड़ी रही। मनोकामना पूरी होने पर बड़ी संख्या में भक्त हलवा- पूड़ी भी भगवान के चरणों में अर्पित किया। सामुदायिक स्वास्थ्य विभाग की टीम स्वास्थ्य शिविर भी लगाए गए थे। वैक्सीनेशन का भी काम चल रहा था। मेले में चुटहिया जलेबी का बोलबाला रहा। महिलाएं भी घर गृहस्थी का सामान खरीद कर रही थी।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.