हवन, यज्ञ कर खिलाई मिठाई, नव सवंत्सर की दी बधाई

हवन, यज्ञ कर खिलाई मिठाई, नव सवंत्सर की दी बधाई

नव संवत्सर पर आयोजित किए गए विभिन्न कार्यक्रम

JagranWed, 14 Apr 2021 12:22 AM (IST)

जागरण संवाददाता, बस्ती: हवन, यज्ञ, गोष्ठी आदि का आयोजन कर मंगलवार को नव संवत्सर का स्वागत किया गया। लोगों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर भारतीय नव वर्ष खुशियां मनाई और इसके महत्व पर चर्चा की गई।

निर्धारित कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए भारत स्वाभिमान व पतंजलि योग समिति की ओर से योग शिक्षक शिक्षिकाओं ने योग शिविरों के माध्यम से अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की प्रेरणा दी तो वहीं आर्य समाज बस्ती की ओर से घर घर यज्ञ-हर घर यज्ञ के ध्येय वाक्य के तहत जिले के आर्य आर्य समाज मंदिरों व आस पास के घरों में वैदिक यज्ञ नववर्ष की बधाई दी। इस अवसर पर लोगों ने यज्ञोपवीत बदले व घर की छत पर भगवा ध्वज लगाया। सनातनधर्मी संस्था ने अखिलेश दूबे के नेतृत्व में पंकज त्रिपाठी, राहुल त्रिवेदी व अनुराग शुक्ल ने 501 घरों में कोरोनारोधक हवन सामग्री, भगवा ध्वज व गीता के वैदिक प्रश्नोत्तरी वितरण कर कार्यक्रम किया। लोगों को यह समझाने का प्रयास किया कि वैदिक संस्कृति सार्वजनिक, सार्वदेशिक व सार्वकालिक तथा सर्वग्राह्य है। इसके सिद्धान्त पूर्ण रूप से वैज्ञानिक हैं और बिना भेद भाव के सभी मनुष्यों के कल्याण की कामना करते हैं। आर्य समाज नई बाजार बस्ती में वैदिक यज्ञ व फलाहार का कार्यक्रम आयोजित किया गया। यज्ञ कराते हुए ओम प्रकाश आर्य प्रधान आर्य समाज नई बाजार बस्ती ने कहा वैदिक काल गणना के अनुसार इसी दिन से ही संवत्सर बदलते हैं। इसी के आधार पर ग्रह नक्षत्र तिथि व ऋतुओं का परिवर्तन होता है। आदित्य नारायण गिरि,नवल किशोर चौधरी, सुभाष चंद्र आर्य, गरुण ध्वज पांडेय, अनूप कुमार त्रिपाठी, अरविद कुमार श्रीवास्तव, नितेश कुमार, एकता गुप्ता, शुभ्रा वर्मा, अनीशा मिश्रा, साक्षी, श्रेया आदि मौजूद रहे।

........

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने मनाया नव संवत्सर

जासं, बस्ती: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा मंगलवार को नव संवत्सर व वर्ष प्रतिपदा कार्यक्रम कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए सरस्वती विद्या मंदिर वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय रामबाग में मनाया गया। इसमें सीमित संख्या में स्वयंसेवकों ने प्रतिभाग किया।

विभाग प्रचार लालजी भाई ने अपने बौद्धिक में कहा कि स्वयंसेवकों के लिए आज का दिन स्व मूल्यांकन और प्रेरणा का दिन है। इसी दिन संघ के संस्थापक डा. केशवराव बलिराम हेडगेवार का जन्म हुआ था। संघ की शाखा और संपर्क कर्मकांड नहीं है। स्वयंसेवक का कार्य समाज की अपेक्षा को पूर्ण करना है। बताया कि विक्रमी संवत का प्रथम दिन है, यह प्रकृति में परिवर्तन का दिन है। इस दिन ब्रह्मा जी ने सृष्टि की उत्पत्ति की थी। इसके अतिरिक्त सिक्खों के गुरु अंगददेव का जन्म, झूलेलाल का जन्म, आर्य समाज की स्थापना भी इसी दिन हुई थी। कहा कि संघ ने समाज के सहयोग से अशिक्षा को दूर करने के लिए वनवासी क्षेत्रों में छात्रावास शुरू किया। अपने विभिन्न प्रकल्पों के माध्यम से समाज सेवा में लगा हुआ है। विभाग कार्यवाह कुंवर नागेंद्र प्रताप सिंह, संतोष सिंह, अरविद सिंह, उदयभान सिंह, नागर दास मिश्र, गोपेश पाल, सत्यप्रकाश सिंह आदि मौजूद रहे।

...........

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.