दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

तेज आंधी-पानी से लड़खड़ाई बिजली व्यवस्था, आम की फसल को नुकसान

तेज आंधी-पानी से लड़खड़ाई बिजली व्यवस्था, आम की फसल को नुकसान

ग्रामीण क्षेत्रों में जगह-जगह टूट गए विद्युत पोल आपूर्ति बाधित पिपरपाती मुस्तहकम गांव में झोपड़ी गिरने से एक व्यक्ति घायल

JagranMon, 10 May 2021 11:41 PM (IST)

जागरण संवाददाता, बस्ती : जिले में रविवार की देररात को तेज आंधी के साथ हुई बारिश से बिजली व्यवस्था लड़खड़ा गई। हालाकि जिले में कहीं कोई जनहानि की सूचना नहीं है।

आंधी से गांव में कहीं झोपड़ी गिर गए तो कहीं दीवार ढह गई। आम की फसल को काफी नुकसान हुआ है। कई जगहों पर बिजली की तार व खंभे क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इस वजह से इलाकों में पूरे दिन बिजली ठप रही। मुख्य कोषागार कार्यालय के सामने पानी भर गया था। जिससे आने जाने में काफी परेशानी हो रही है।

देईसाड़ प्रतिनिधि के अनुसार

विद्युत उपकेंद्र देईसाड़ व कुदरहा से संबद्ध कड़जा अजमतपुर व पसड़ा में तेज आंधी के चलते विद्युत पोल गिर गए। जिससे जिगिनिया सहित दर्जनों गावों में विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई। वही बानपुर से रोसया बाजार तक डेढ़ दर्जन पोल गिरने से रामपुर, सोनहन छिबरा, परसा, डिहुकपुरा, पड़रिया गांव में अंधेरा छाया रहा। कुदरहा उपकेंद्र संबद्ध लालगंज, जिभियाव, कोप, कुदरहा, बारीघाट सहित दर्जनों गांव में विद्युत आपूर्ति बाधित रही। सोमवार की सुबह से ही विद्युतकर्मियों ने टूटे पोल की जगह दूसरा पोल लगाने में जुट गए।

अवर अभियंता रामप्रकाश वर्मा ने बताया कि अधिकांश गांवों की आपूर्ति बहाल कर दी गई है। बाकी गांवों की भी आपूर्ति जल्द बहाल कर दी जाएगी।

बभनान कार्यालय के अनुसार विद्युत उप केंद्र बभनान व गौर बेलहिया की विद्युत आपूर्ति व्यवस्था चरमरा गई। नगर पंचायत बभनान सहित दोनों उपकेंद्र से जुड़े लगभग 550 गांव की बिजली गुल हो गई। विद्युत विभाग के कर्मचारी दिनभर फाल्ट दूर करने में लगे रहे । आंधी-पानी से बभनान हर्रैया के मेन लाइन पर पेड़ गिर गए व खंभे टूट गए । एलटी लाइन पर भी जगह जगह खंभे टूट गए। सोमवार को भी पूरे दिन नहीं आई। हर्रैया के अधिशासी अभियंता अमित कुमार ने बताया कि हाइटेंशन के विद्युत पोल पर पेड़ गिरने से टूट गए हैं। मरम्मत कार्य चल रहा है शाम तक आपूर्ति बहाल कर दिया जाएगा।

रुधौली कार्यालय के अनुसार तेज आंधी-पानी के चलते क्षेत्र में काई जनहानी नहीं हुई है। आम व्यवसायियों का काफी नुकसान हुआ है। आम की फसल की ज्यादा क्षति हुई है।

पैड़ा के बाग स्वामी संतराम सोनकर ने बताया कि 50 बीघा में आम का बाग है। इस बार आम का पैदावार बहुत अच्छा हुआ था मगर आंधी के चलते भारी नुकसान हुआ है। कच्चा आम पेड़ों से गिर गया। रखौना प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र में कई जगह पेड़ धराशायी हो गए। जिससे कुछ समय के लिए मार्ग भी अवरूद्ध रहा । कई जगह तार व विद्युत पोल टूट जाने से विद्युत व्यवस्था धवस्त हो गई । गोटवा प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र में आंधी से भारी नुकसान नहीं हुआ है।

किसान रूदल ने कहा यह बारिश गन्ने की फसल के लिए लाभ दायक है। कुदरहा प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र में आंधी पानी के चलते काफी नुकसान हुआ है। जगह-जगह विद्युत पोल, पेड़ व झोपड़ी गिर गए और कुल लोग घायल भी हो गये है।

खंड विकास कार्यालय पर मुख्य भवन के ऊपर पेड़ गिर गया। जिससे भवन का पोर्च टूट गया। वहीं परिसर में लगा इक्लिपटस का दर्जनों पेड़ टूट कर गिर गया है। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कुदरहा के मुख्य गेट पर लगा लोहे का गेट टूट कर लटक गया। जिससे एंबुलेंस व गाड़ियों के आने जाने में समस्या का सामना करना पड़ा। छरदही गाव में ट्रांसफार्मर सहित दर्जनों विद्युत पोल गिर गए। पिपरपाती मुस्तहकम गांव निवासी रामवेलास अपने परिवार के साथ रिहायसी झोपड़ी में सो रहे थे कि अचानक आंधी आयी और परिवार को निकालने में उनके ऊपर झोपडी गिर गयी और चोटिल हो गये। इसी गांव के कुलदीप के घर के सामने पेड़ गिरने से बंदर की दब कर मौत हो गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.