शिक्षकों ने राष्ट्रीय आंदोलन में हिस्सेदारी को लेकर बनाई रणनीति

27 दिसंबर को जिले स्तर पर होगा धरना

JagranTue, 30 Nov 2021 11:31 PM (IST)
शिक्षकों ने राष्ट्रीय आंदोलन में हिस्सेदारी को लेकर बनाई रणनीति

जासं,बस्ती: उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल की अध्यक्षता में मंगलवार को प्रेस क्लब के सभागार में पदाधिकारियों की बैठक हुई। अखिल भारतीय प्राथमिक शिक्षक द्वारा घोषित राष्ट्रीय आंदोलन में हिस्सेदारी को लेकर रणनीति बनाई गई।

जिलाध्यक्ष ने कहा कि पुरानी पेंशन नीति बहाली सहित 7वां वेतन एवं विभिन्न बकाया भुगतान की मांग को लेकर एक दिसंबर से जन संपर्क के साथ ही जनपद में सदस्यता अभियान चलाया जाएगा। 15 दिसंबर को सभी बीआरसी केंद्रों पर मांगों के समर्थन में धरना देकर ज्ञापन दिया जाएगा। 27 दिसंबर को जिला स्तर पर धरना दिया जाएगा। आंदोलन में विभिन्न कर्मचारी संगठनों के साथ ही शिक्षक, शिक्षा मित्र, सफाईकर्मी, रसोईया, अनुदेशक, आंगनबाडी सहित सभी संविदाकर्मी हिस्सा लेंगे।

जिला मंत्री राघवेन्द्र सिंह ने कहा कि आंदोलन की सफलता के लिए पूरी ताकत लगा देने की जरूरत है। अखिलेश मिश्र, विजय प्रकाश चौधरी, शैल शुक्ल, महेश कुमार आदि ने एकजुटता पर जोर दिया। संतोष शुक्ल, देवेन्द्र कुमार वर्मा, चन्द्रभान चौरसिया, बब्बन पांडेय, अभिषेक उपाध्याय, कन्हैयालाल भारती, ज्ञान प्रताप उपाध्याय, देवेन्द्र वर्मा, आनंद दूबे, रामभरत वर्मा, इंद्रसेन मिश्र, राजेश कुमार चौधरी, शोभाराम वर्मा, प्रशांत मौजूद रहे।

कार्यशाला में पाठ्य विषयों के निरंतर अध्ययन पर दिया गया जोर

जासं, बस्ती : सरस्वती शिशु मंदिर इंटर कालेज शिवा कालोनी में मंगलवार को शिक्षक प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन हुआ। जन शिक्षा समिति गोरक्ष प्रांत के प्रांत निरीक्षक जियालाल ने पाठ्य विषयों का निरंतर अध्ययन करने व पाठ्य सहगामी क्रियाओं पर ध्यान रखने पर जोर दिया।

इसके पूर्व कार्यशाला का उद्घाटन जन शिक्षा समिति गोरक्ष प्रांत के प्रांत निरीक्षक, बस्ती संभाग के संभाग निरीक्षक राम नरेश सिंह व केशव शिक्षा समिति के मंत्री सिद्धार्थ शंकर मिश्र ने मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्ज्वलित कर किया। विभाग पर्यावरण संरक्षण प्रमुख संत राम, विद्यालय के अध्यक्ष राम सूरत शुक्ल, प्रधानाचार्य दिनेश राम त्रिपाठी सहित जनपद के 14 विद्यालयों के प्रधानाचार्य कार्यशाला में प्रतिभाग किए। विद्या भारती द्वारा संचालित सरस्वती शिशु मंदिर व विद्या मंदिर के पाठ्यचर्या पर चर्चा की गई। इसी के साथ नई शिक्षा नीति के विषयों को जानने पर भी जोर दिया गया। केशव शिक्षा समिति बस्ती के मंत्री ने कहा कि यदि नई ऊर्जा के साथ अध्यापन का कार्य किया जाए तो निश्चित रुप से शिक्षा का और भी बेहतर माहौल सृजित होगा।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.