14 राज्यों के युवा सीखेंगे गिनीफाउल, टर्की और बटेर पालन, ऑनलाइन चलेगा प्रशिक्षण कार्यक्रम

उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया।

केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान (सीएआरआइ) 14 राज्यों के युवाओं को गिनीफाउल टर्की और बटेर जैसे कुक्कुट पालन के तरीके सिखाएगा। राष्ट्रीय स्तर के छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत सोमवार से हो गई। 74 युवक-युवतियां प्रशिक्षण ले रहे हैैं।

Publish Date:Tue, 19 Jan 2021 05:01 PM (IST) Author: Sant Shukla

 बरेली, जेएनएन। केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान (सीएआरआइ) 14 राज्यों के युवाओं को गिनीफाउल, टर्की और बटेर जैसे कुक्कुट पालन के तरीके सिखाएगा। राष्ट्रीय स्तर के छह दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरुआत सोमवार से हो गई। ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रदेश के अलावा उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तेलंगाना, छत्तीसगढ, झारखंड, बिहार, कर्नाटक, हरियाणा, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली से 74 युवक-युवतियां प्रशिक्षण ले रहे हैैं।

कार्यक्रम सह-समन्वयक प्रधान वैज्ञानिक डॉ. चंद्रहास व प्रशिक्षण समन्वयक डॉ.एमपी सागर ने प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा बताई। सीएआरआइ निदेशक व कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ.एके तिवारी ने प्रशिक्षण कार्यक्रम में शामिल होने वाले युवक और युवतियों को बधाई देते हुए संस्थान के अनुभवी वैज्ञानिकों से अधिकतम ज्ञान अर्जित करने की सलाह दी। साथ ही उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में संस्थान के वैज्ञानिक ब्रायलर, लेयर, टर्की, बटेर, गिनी फाउल पालन से संबंधित विषयों पर ऑनलाइन व्याख्यान देंगे। कोविड-19 महामारी से बचाव के लिए गाइडलाइन के तहत सीएआरआइ में पहली बार इस तरह की ट्रेनिंग ऑनलाइन हो रही है। 23 जनवरी तक चलने वाले प्रशिक्षण में प्रधान वैज्ञानिक डॉ.राजनारायन, डॉ. प्रमोद त्यागी, डॉ. एसके भांजा, डॉ. चंद्र देव, डॉ. अभिषेक बिश्वास प्रशिक्षण देंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.