बरेली में विद्युुत संविदा कर्मियों के ईपीएफ में गबन की आशंका, रजिस्टर्ड ठेकेदार ने नहीं किया भुगतान

बरेली में विद्युुुत संविदा कर्मियों के ईपीएफ में गबन की आशंका, रजिस्टर्ड ठेकेदार ने नहीं किया भुगतान

EPF News मीरगंज तहसील क्षेत्र स्थित विद्युत उपकेंद्रों पर कार्यरत संविदा कर्मियों का चार साल का ईपीएफ भुगतान पंजीकृत ठेकेदार ने नहीं किया है। संविदा कर्मियों ने इस बाबत शुक्रवार को उपखंड अधिकारी (एसडीओ) को शिकायती प्रार्थना पत्र सौंपा और घोटाले की आशंका जताई।

Ravi MishraSat, 27 Feb 2021 11:53 AM (IST)

बरेली, जेएनएन। EPFO News : मीरगंज तहसील क्षेत्र स्थित विद्युत उपकेंद्रों पर कार्यरत संविदा कर्मियों का चार साल का ईपीएफ भुगतान पंजीकृत ठेकेदार ने नहीं किया है। संविदा कर्मियों ने इस बाबत शुक्रवार को उपखंड अधिकारी (एसडीओ) को शिकायती प्रार्थना पत्र सौंपा और घोटाले की आशंका जताई। संज्ञान लेते हुए एसडीओ ने विद्युत वितरण खंड प्रथम के अधिशासी अभियंता को विभागीय पत्र लिखा है। जिसमें वर्ष 2016 से 2019 अवधि के ईपीएफ भुगतान में गबन की आशंका भी जताई है।

स्थानीय विद्युत उपकेंद्र पर कार्यरत संविदा विद्युत कर्मियों भूपराम, वीरपाल, माजिद खान, राजेंद्र सिंह, शिशुपाल, सुरेश कुमार, पवन शर्मा, महेश शर्मा, दिनेश शर्मा आदि ने उपखंड अधिकारी मीरगंज कार्यालय पर पहुंचकर शिकायती देते हुए एसडीओ से कहा कि कि वे आदर्श इंटरप्राइजेज से संबद्ध हैं और विद्युत उपकेंद्र पर संविदा कर्मी के रूप में सेवारत हैं। उनके ठेकेदार ललित सक्सेना ने वर्ष 2016 से 2019 तक का ईपीएफ भुगतान नहीं किया है। वे अपनी जान जोखिम में डालकर लगातार काम कर रहे हैं लेकिन, ठेकेदार उनका वाजिब भुगतान भी नहीं कर रहे हैं।

कई बार विद्युत उपकेंद्र स्तर पर अवर अभियंता से शिकायत कर चुके हैं, लेकिन समस्या का हल न होने के कारण लिखित शिकायत की है। उन्होने मांग की है कि इस ईपीएफ घोटाले की जांच कराकर ठेकेदार के विरुद्ध कार्रवाई कर उनका भुगतान दिलाया जाए।

ईपीएफ भुगतान न होने संबंधी शिकायत मिली है। संविदा कर्मियों के शिकायती पत्र के साथ अपनी रिपोर्ट अधिशासी अभियंता के पास भेज दी है।- हरिओम पवार, एसडीओ (विद्युत)

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.