बरेली में बढ़ा ओमीक्रोन वेरिएंट का खतरा, 12 देशों से चोरी-छिपे आए 200 लोग, जानिए क्या कर रहा आइडीएसपी विभाग

Danger of Omicron Variants in Bareilly दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रान की दस्तक से वहां के लोगों में दहशत है। कोरोना के दौरान पिछले साल जैसे हालात बेकाबू न हो जायं इसलिए विदेशों से लोगों का लौटना शुरू हो चुका है।

Ravi MishraTue, 30 Nov 2021 06:58 AM (IST)
बरेली में बढ़ा ओमीक्रोन वेरिएंट का खतरा, 12 देशों से चोरी-छिपे आए 200 लोग, जानिए क्या कर रहा आइडीएसपी

बरेली, जेएनएन। Danger of Omicron Variants in Bareilly : दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमीक्रान की दस्तक से वहां के लोगों में दहशत है। कोरोना के दौरान पिछले साल जैसे हालात बेकाबू न हो जायं, इसलिए विदेशों से लोगों का लौटना शुरू हो चुका है। बीते दो महीनों में अमेरिका सहित 12 देशों से चोरी छिपे 200 लोग बरेली आ चुके हैं। गनीमत यह रही कि इनमें कोई भी यात्री अफ्रीका से नहीं आया। इसलिए किसी यात्री में वायरस होने की आशंका बहुत कम है। वहीं पिछले 15 दिनों में 68 यात्री बाहर से आए हैं। इस वजह इन सभी की आरटी-पीसीआर जांच कराई जाएगी। इसकी प्रक्रिया भी तेजी से चल रही है। लैब में जांच के बाद यदि इनमें से किसी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो उसके सैंपल जीनोम सिक्वेसिंग के लिए भेजे जाएंगे।

सरकार की ओर से जारी निर्देश पर अब जो भी यात्री विदेश से आएंगे, उनकी आरटी-पीसीआर जांच होगी, इसके बाद ही उन्हें घर जाने दिया जाएगा। साथ ही रिपोर्ट आने तक लोगों को अपने घरों में क्वारेंटाइन ही रहना पड़ेगा। विदेशों से आने वाले यात्रियों की निगरानी के लिए एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आईडीएसपी) सेल को लगाया गया है। इस सेल के द्वारा ही विदेशों से लौटे लोगों की ट्रेसिंग की जा रही है, जिसमें पता चला कि पिछले दो महीने में दो सौ यात्री विदेशों से आ चुके हैं। टीम द्वारा लगातार बाहर से आने वाले लोगों को ट्रैस किया जा रहा है। इसलिए आने वाले दिनों में ऐसे लोगों की संख्या और अधिक हो सकती है, जो विदशों से आ चुके हैं, इसकी कोई जानकारी जिला प्रशासन या फिर हेल्थ डिपार्टमेंट के पास नहीं है।

इन 12 देशों से लौटने वालों पर विशेष निगरानी

हेल्थ अफसरों के अनुसार यूके, साउथ अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरिशस, न्यूजीलैंड, जिंबावे, सिंगापुर, हांगकांग और इजरायल में अभी तक ओमीक्रान से संक्रमित मरीज मिले हैं। जिस कारण इन देशों से लौटने वाले लोगों की विशेष निगरानी की जा रही हैं।

एयरपोर्ट पर बिना जांच के आवागमन बंद

कोरोना की दस्तक के बाद से ही एयरपोर्ट पर कोरोना जांच के बिना एंटी और एक्जिट नहीं कर सकते थे लेकिन कोरोना की सेकेंड वेव का प्रकोप कम होने के बाद वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने के बाद एंट्री मिल जा रही थी, लेकिन अलर्ट के बाद चेकिंग बढ़ा दी गई है। यहां डेली एक स्टेटिक टीम आने जाने वाले यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग करेगी वहीं आरटी-पीसीआर जांच के बाद ही आने और जाने दिया जाएगा।

यहां भी शुरू कराई गई जांच

एयरपोर्ट से पूर्व दिल्ली बाईपास स्थित फतेहगंज पश्चिमी टोल प्लाजा, रेलवे जंक्शन, रोडवेज और सैटेलाइट पर भी हेल्थ डिपार्टमेंट की ओर से कोरोना जांच करने के लिए टीमें लगा दी गईं है। सरकारी व गैर सरकारी वाहनों से आने वाले सभी यात्रियों का आरटी-पीसीआर जांच होने के बाद ही शहर में एंट्री करने दिया जा रहा है।

बीते दो माह में 200 लोग विदेशों से जिले में लौटे हैं जिन्हें ट्रेस कर टीम जानकारी जुटा रहीं है। वहीं आरटी-पीसीआर जांच संबंधी जानकारी ली जा रही है इसके अतिरिक्त एयरपोर्ट पर भी बिना जांच के अब एंट्री और एक्जिट नहीं करने दिया जाएगा। डॉ. अनुराग गौतम, प्रभारी, सर्विलांस सेल

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.