बरेली में डेंगू के दस नए केस, मलेरिया के 73 मरीज

डेंगू और मलेरिया के मरीजों के सर्विलांस में पिछले कई दिनों तक चली खामी का असर दिखने लगा है। जिले में डेंगू और मलेरिया के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। शनिवार को जारी रिपोर्ट में डेंगू के दस नए केस सामने आए। इसके बाद जिले में अब तक डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 40 पहुंच गई है। वहीं मलेरिया के भी 73 मरीज स्वास्थ्य विभाग ने रिपोर्ट किए हैं इसके बाद मलेरिया के मरीजों का आंकड़ा शनिवार को दो हजार पार कर गया।

JagranSun, 26 Sep 2021 05:17 AM (IST)
बरेली में डेंगू के दस नए केस, मलेरिया के 73 मरीज

जागरण संवाददाता, बरेली: डेंगू और मलेरिया के मरीजों के सर्विलांस में पिछले कई दिनों तक चली खामी का असर दिखने लगा है। जिले में डेंगू और मलेरिया के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। शनिवार को जारी रिपोर्ट में डेंगू के दस नए केस सामने आए। इसके बाद जिले में अब तक डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 40 पहुंच गई है। वहीं, मलेरिया के भी 73 मरीज स्वास्थ्य विभाग ने रिपोर्ट किए हैं, इसके बाद मलेरिया के मरीजों का आंकड़ा शनिवार को दो हजार पार कर गया। ऐसे में अब डेंगू और मलेरिया के आंकड़े स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के लिए चिता का सबब बन गए हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने डोर-टू-डोर अभियान तेज कर मरीजों की समय पर पहचान कर उपचार करने और मच्छरों के लार्वा नष्ट करने के निर्देश दिए हैं।

शुक्रवार और शनिवार के पांच-पांच केस दिखाए

स्वास्थ्य विभाग की ओर से शुक्रवार शाम को जारी रिपोर्ट में एक भी मरीज डेंगू से ग्रसित रिपोर्ट नहीं हुआ था। हालांकि शनिवार को दिखाए रिकार्ड के मुताबिक शुक्रवार के 32 सैंपलों में पांच डेंगू एलाइजा पाजिटिव मिले। अधिकारियों के मुताबिक ये टेस्ट रिपोर्ट रात को मिली थीं। वहीं, शनिवार के 26 सैंपल में भी पांच और लोगों में डेंगू वायरस की पुष्टि हुई है। इस तरह जिले में अब तक 40 लोग वायरस का शिकार हो चुके हैं।

दो की मौत, 21 हुए स्वस्थ

जिले में अभी तक दो लोगों की डेंगू से मौत रिपोर्ट हुई है। वहीं स्वास्थ्य महकमे से मिले डेटा के मुताबिक 21 मरीज स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज हो चुके हैं। शेष मरीज एसआरएमएस मेडिकल कालेज, सरकारी व निजी अस्पताल में उपचाराधीन हैं।

हैरत करने की बात है कि ग्रामीण इलाकों की तुलना शहरी क्षेत्र में डेंगू के ज्यादा शिकार मिले हैं। देहात क्षेत्र में अब तक 11 मामले सामने आए हैं। वहीं, शहर में सीबीगंज के पांच केस समेत 29 डेंगू के मरीज मिले हैं।

मलेरिया में 32 फैल्सीपेरम और 41 पीवी के केस

वर्ष 2018 की बात करें तो मलेरिया के केस को लेकर बरेली प्रदेश में पहले स्थान पर था। अब एक बार फिर मलेरिया से ग्रसित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। शनिवार को मलेरिया से ग्रसित 73 नये मरीज मिले हैं। जिसमें 32 फैल्सीपेरम वहीं 41 मरीज प्लाज्मोडियम वाइवेक्स से ग्रसित पाए गए हैं। जिले में अब तक कुल 2058 मरीजों में मलेरिया की पुष्टि हो चुकी है।

वर्जन

जिले में डेंगू और मलेरिया के केस बढ़ रहे हैं। सर्विलांस समेत सभी टीम को जरूरी जगह सैंपल लेने और आवश्यक निरोधात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। लोगों को भी ज्यादा से ज्यादा जागरूक किया जा रहा है।

डा. बलवीर सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, बरेली

--------------------------

डेंगू से महिला की मौत के बाद भी नहीं सुधर रहे हालात

संसू सीबीगंज : सीबीगंज की लेबर कालोनी में बीते दिन डेंगू से महिला की मौत हो चुकी है। जिसके बाद भी जिम्मेदार विभाग नहीं चेते हैं। कालोनी में न फागिग की जा रही है और ना ही साफ-सफाई दुरुस्त है। जबकि अभी कालोनी में ही दर्जनभर लोग बुखार से बीमार पड़े हुए हैं। जिसमें से कई अस्पतालों में भी फर्जी है।

सीबीगंज की लेबर कालोनी में बुखार फैला हुआ है। दर्जनों लोग बुखार से पीड़ित है। जिसमे से कई अस्पताल में भर्ती है। बीते दिन कॉलोनी की महिला प्रभा जौहरी की मौत हो चुकी है। डेंगू से हुई मौत के बाद भी स्वास्थ्य विभाग व नगर निगम लापरवाही बरते हुए हैं।कॉलोनी में ना तो नालियों की साफ-सफाई की जा रही है और ना ही फागिग, स्प्रे किया जा रहा है। अस्पताल में भर्ती लोगों में लक्की, पलक,सुजीत कौर,वहीद, कृष्णमूर्ति की बेटी,मानसी आदि निजी व ईएसआइसी अस्पताल में भर्ती हैं।

प्लेटलेट्स कम होने से बिगड़ रहे हालात

डेंगू व वायरल बुखार में मरीजों की प्लेटलेट्स गिरने लगती है। इससे मरीज को कमजोरी लगने लगती है। प्लेटलेट्स तेजी से कम होने पर जान जाने का खतरा भी रहता है। वहीं बुखार के मरीजों की संख्या बढ़ने के बाद कस्बे के डाक्टरों के क्लीनिक पर मरीजों का ताता लगा हुआ है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.