मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाने पर तहसीलदार ने प्रत्याशी समर्थक को मारा थप्पड़, जांच में जुटी बरेली पुलिस

Bareilly Panchayat Chunav 2021 ग्राम पंचायत सदस्योंं की मतगणना के दौरान जब एक प्रत्याशी के समर्थकों ने चौथी बार मतगणना कराने की मांग की तो तहसीलदार ने एक समर्थक को थप्पड़ जड़ दिया। मामले की तहरीर पुलिस को दिए जाने के बाद पुलिस ने पड़ताल शुरू कर दी है।

Samanvay PandeyWed, 16 Jun 2021 11:30 AM (IST)
जब मतगणना अभिकर्ता भानु प्रताप ने आरओ नितिन अग्रवाल से शिकायत की तो नाराज तहसीलदार ने उसके थप्पड़ जड़ दिया।

बरेली, जेएनएन। Bareilly Panchayat Chunav 2021 : ग्राम पंचायत सदस्योंं की मतगणना के दौरान जब एक प्रत्याशी के समर्थकों ने चौथी बार मतगणना कराने की मांग की तो तहसीलदार ने एक समर्थक को थप्पड़ जड़ दिया। मामले की तहरीर पुलिस को दिए जाने के बाद पुलिस ने जांच पड़ताल शुरू कर दी है। पुलिस गहनता से जांच कर रही है।

भदपुरा ब्लाक क्षेत्र के ग्राम पंचायत अमीर नगर के वार्ड संख्या दो से पूरन देवी और स्वाति गंगवार ग्राम पंचायत सदस्य पद को लेकर चुनाव मैदान में थे। सोमवार को ब्लाक परिसर में मतगणना शुरू होने के एक घंटे के अंदर ही स्वाति गंगवार के भाई भानू प्रताप ने आरोप लगाया कि मतपेटिका के मतगणना स्थल पर लाने के दौरान उसमें सील मोहर नही थी। जबकि मतदान के दिन मतपेटिका को सील किया गया था।

आरोप है जब मतगणना अभिकर्ता भानु प्रताप ने आरओ नितिन कुमार अग्रवाल से शिकायत की तो नाराज तहसीलदार ने उसके थप्पड़ जड़ दिया। जिससे नाराज भानूप्रताप ने क्योलड़िया थाने में तहरीर दे कार्रवाई की मांग की। जिस पर थाना प्रभारी राजेन्द्र सिंह सिरोही ने उपनिरीक्षक सुनील कुमार को मामले की जांच सौंपी है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। थाना प्रभारी राजेन्द्र सिंह सिरोही ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। पुलिस हर बिन्दु पर गहनता से जांच कर रही है। जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जायेगी।

महिला आरक्षित सीट पर पुरुष के चुनाव जीतने की शिकायत के बाद हटाया गया नाम : महिला आरक्षित सीट पर पुरुष के चुनाव लड़ कर जीतने के मामले में हुई शिकायत के बाद जांच शुरु हो गयी है। जिसके बाद चुनाव में लगे 2 बड़े अधिकारियों की गर्दन फंसती हुई नजर आ रही है। मंगलवार को चुनाव जीतने वाले पुरुष का नाम इंटरनेट पर जारी सूची से हटा दिया गया है। सतुईया खुर्द गांव के वार्ड संख्या 16 के क्षेत्र पंचायत सदस्य की सीट महिला के लिए आरक्षित थी।

इस सीट पर मिथलेश कुमारी, सुरजमुखी, मीरा देवी, जीनत बानो, राजो व फूल बानो के साथ ही ख्याली सिंह ने नामांकन कराया था। सीट महिला होने के बाद भी नामांकन पत्रों की जांच में ख्याली सिंह के पर्चे को वैध करार कर दिया गया। जिसमें ख्याली सिंह मिथलेश कुमारी से 24 वोटों से जीत गए थे।

चुनाव हारी मिथलेश कुमारी के पति कृष्ण अवतार ने इस मामले में चुनाव आयोग व डीएम से शिकायत कर चुनाव निरस्त करने की मांग की थी।मामले की शिकायत के बाद इंटरनेट पर जारी हुई विजयी प्रत्याशियों की सूची से महिला आरक्षित सीट पर चुनाव जीतने वाले पुरुष का नाम हटा दिया गया है। सूत्रों की माने तो नामांकन के दौरान लगे दो बड़े अधिकारी की गर्दन फंसती नजर आ रही है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.