बरेली के कोविड अस्पताल में उठा धुआं, फायर फाइटर पहुंचे

गुजरात अग्निकांड के बाद बरेली कोविड अस्पताल में परखी अग्नि सुरक्षा व्यवस्था।

राजकोट गुजरात के कोरोना अस्पताल में हुए अग्निकांड में पांच संक्रमित मरीजों की मौत के बाद शनिवार को बरेली के कोविड अस्‍पताल में धुआं उठने लगा। इसकी जानकारी मिलते ही तत्‍काल दमकल विभाग के कर्मचारी गाडि़यां लेकर पहुंचे और आग पर काबू पाने में जुट गए।

Samanvay PandeySat, 28 Nov 2020 03:15 PM (IST)

बरेली, जेएनएन। राजकोट, गुजरात के कोरोना अस्पताल में हुए अग्निकांड में पांच संक्रमित मरीजों की मौत के बाद शनिवार को बरेली के कोविड अस्‍पताल में धुआं उठने लगा। इसकी जानकारी मिलते ही तत्‍काल दमकल विभाग के कर्मचारी गाडि़यां लेकर पहुंचे और आग पर काबू पाने में जुट गए। कुछ ही देर में कर्मचारियों ने आग पर काबू पा लिया। आग लगने से किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ है। दरअसल यह एक मॉक ड्रिल थी। दमकल कर्मचारियों और अस्‍पताल के स्‍टाफ को प्रशिक्षण देने के लिए इसका आयोजन किया गया था। मॉक ड्रिल  तहत शिवानंद अस्पताल के आइसीयू में हादसा दिखाया गया। जहां कुल 11 मरीज भर्ती थे। दर्दनाक हादसे के बाद  बरेली के 300 बेड कोविड अस्पताल में भी अग्नि सुरक्षा संबंधी व्यवस्थाओं को आकने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने अग्निशमन विभाग के साथ मिलकर मॉक ड्रिल की। दोपहर करीब 1:30 बजे दमकल की गाड़ी 300 बेड कोविड अस्पताल पहुंची। दमकल कर्मियों ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को अग्निशमन यंत्रों के उपयोग की जानकारी दी। इसके बाद  स्वास्थ्य कर्मियों से अग्निशमन यंत्र जलवा कर भी देखे। वहीं अस्पताल में लगे सभी अग्निशमन यंत्र और अन्य फायर फाइटिंग सिस्टम जैसे स्प्रिंकलर, हौज़रील को भी चेक किया। दमकल विभाग की टीम ने करीब दो घण्टे तक प्रशिक्षण दिया।

स्प्रिंकलर से आग लगने का डर  

300 बेड कोविड अस्पताल के प्रशासनिक भवन में स्प्रिंकलर सिस्टम ही आग लगने की वजह बन सकता है। दरअसल अस्पताल के हॉल में ही एक जगह सीलिंग फैन लगा है। इसके ठीक  बगल में स्प्रिंकलर है। ऐसे में फायर फाइटिंग सिस्टम शुरू होने पर पंखे में पानी जाना लगभग तय है। इससे शॉर्ट सर्किट होने और उससे आग लगने का डर बना रहता है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.